BiG News – निगरानी दस्ते ने #भ्रष्टाचार को #शिष्टाचार” बना रखे शिक्षा विभाग के #घूसखोर क्लर्क को पौने दो लाख रुपए लेते रंगे हाथ दबोचा

169

पटना Live डेस्क। बिहार के सरकारी कर्मचारियों जिन्होंने “भ्रष्टाचार को शिष्टाचार” में तब्दील कर रखा है के खिलाफ निगरानी विभाग ने जबदरस्त अभियान चला रखा है। इस अभियान के तहत बिहार निगरानी दस्ते द्वारा लगातार उन सरकारी ओहदेदारों, अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है।

इसी क्रम में जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय प. चंपारण के बेतिया स्थित कार्यालय में तैनात क्लर्क फखरे आलम के खिलाफ जिले के जोगापट्टी इलाके में स्थित मदरसा इस्लामिया के प्रधान मौलवी कौसर अली नयाजी ने निगरानी विभाग में शिकायत दर्ज कराई की सहायक शिक्षक अब्दुल जलील, यासीन अंसारी और अलाउद्दिन का 18 महीने का वेतन नहीं मिला है। इनका वेतन चालू कराने के लिए क्लर्क ने बतौर रिश्वत दो लाख 20 हजार रुपए की डिमांड की थी।

मामले की लिखित शिकायत मिलने पर निगरानी विभाग ने जब शिकायत की जांच की तो मामला सत्य पाया गया। फिर क्या था ? घूसखोर को उसकी सही जगह दिखाने ख़ातिर पटना से टीम बेतिया रवाना हो गई। जैसा कि तय था। शिक्षा विभाग का क्लर्क फखरे आलम घूस की रकम लेने के लिए फखरे आलम जिला शिक्षा कार्यालय के बाहर मेन रोड पर आया था वह जैसे ही घूस की रकम लेने लगा ,निगरानी टीम ने उसे धर दबोचा।इस सफलता के बाबत निगरानी दस्ते ने बताया कि टीम ने गुरुवार को फखरे बेतिया स्थित जिला शिक्षा कार्यालय में कार्यरत है को घुस की रकम लेते समय ही कार्यलय के बाहर दबोचा गया। उसके पास से निगरानी टीम ने घुस में लिए गए  1 लाख 77 हजार 900 रुपए बरामद किए हैं।

Loading...