BiG Breaking – पटना पुलिस को झटका, नही मिला अनंत की गिरफ्तारी ख़ातिर वारेंट, मंडे तक छोटे सरकार की टली गिरफ्तारी

363

पटना Live डेस्क।  मोकामा के बाहुबली विधायक एक ओर जहां फौरी राहत मिली है वही दूसरी तरफ़ बढ़ा ASP लिपी सिंह कोशिशों को झटका लग गया है। दरअसल विधायक के नदवा स्थित पैतृक आवास से AK-47 बरामदगी और फिर अन्य घातक हथियार मिलने के बाढ़ थाना में  FIR नम्बर 389/19 में नामज़द करते हए अनंत सिंह के खिलाफ UAPA के तहत मामला दर्ज किया गया। तदुपरान्त बाढ़ कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट लेने ख़ातिर लाव लश्कर के साथ लिपि सिंह पहुची। लेकिन बाढ़ कोर्ट ने शनिवार को नहीं अनंत की गिरफ्तारी का वारेंट जारी नही किया है। अब पटना पुलिस को सोमवार तक इंतजार करना पड़ेगा। क्योंकि कल रविवार का दिन है अब सोमवार को ही पटना पुलिस को गिरफ्तारी वारंट मिल सकता है।

उल्लेखनीय है कि मोकामा से निर्दलीय बाहुबली विधायक छोटे सरकार उर्फ अनंत सिंह के खिलाफ यूएपीए (UAPA) के तहत देशद्रोह की धाराओं के तहत बाढ थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। यह धाराएं आतंकी गतिविधि से जुड़े होने पर लगायी जाती है। शायद अनंत बिहार के पहले वैसे शख्स हैं, जिनके खिलाफ अनलाॅफुल एक्टिवीटिज प्रीवेंशन एक्ट की धारा लगाई गई है।

बता दें कि अनंत सिंह के पैतृक आवास लदमा में पुलिस की करीब 28 घंटें तक चली कार्रवाई के बाद एक एके-47, दो हैंड ग्रेनेड तथा अन्य प्रतिबंधित विस्फोटक बरामद हुए थे। एक-47 वाईव्रेंट है और उसे वैज्ञानिक तरीके से नीले रंग के कार्बन में लपेट कर रखा गया था। हैंड ग्रेनेड को भी छिपा कर रखा गया था। कार्बन में छिपाने की वजह यह थी कि उसे मेटल डिटेक्टर से बचाया जा सके।

इस संबंध में ग्रामीण एसपी कांतेश मिश्र तथा एएसपी लिपि सिंह ने कहा कि स्थानीय बाढ़ थाने में विधायक अनंत सिंह के खिलाफ यूएपीए तथा देशद्रोह की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। काफी अनुसंधान व कानूनी सलाह-मशविरे के बाद यह धारा उन पर लगायी गयी है क्योंकि बरामद हथियार प्रतिबंधित हैं। बाढ़ की एएसपी लिपि सिंह को इस केस का आईओ बनाया गया है।दरअसल, UAPA एक्ट के तहत डीएसपी स्तर के अधिकारी को आइयों बनाया जाता है।

UAPA में गिरफ्तारी ख़ातिर वारेंट की नही होती है जरूरत

उल्लेखनीय है कि मोकामा विधायक को UAPA के तहत FIR दर्ज कर बाढ़ थाने के काण्ड सख्या 389/19 में नामज़द अभियुक्त बनाया गया है। दरअसल पुलिस ने UAPA एक्ट में बिना वारंट के भी गिरफ्तारी का प्रावधान है। लेकिन पुलिस इस मामले में फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। तभी तो पुलिस मुख्यालय ने जांच में लगे अधिकारियों को कोर्ट से वारंट लेकर बाहुबली विधायक को गिरफ्तार करने को कहा, तदुपरान्त पटना पुलिस ने अनंत सिंह की गिरफ्तारी को लेकर बाढ़ कोर्ट में आवेदन देने पहुंच गई पर जैसा कि पुलिस मुख्यालय के सूत्रों ने आशंका जताई थी, शनिवार को लेकर वारंट प्रे करने में थोड़ी परेशानी हो गई और फिर अनन्त सिंह को फौरी तौर पर राहत और पटना पुलिस को झटका लग गया।

Loading...