बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Fact Finding-सुशासन में शराबबन्दी की हक़ीक़त-विरमित हो चुके नशे में धुत्त ASP ने की गुण्डई,IG के भाई को पीट-पीट कर किया अधमरा तोड़ी टांग

बिहार में कानून का राज़ यानी सुशासन और पूर्ण शराबबंदी भी लागू है। लेकिन हकीकत का तफ़सरा इस बात से हो जाएगा कि मोतिहारी में नशे में धुत ASP ने IG के भाई का तोड़ा पैर,गाली-गलौज कर सरेआम जमकर कूटा। सनद रहे कि कुमार ओमप्रकाश सिंह को उनके मूल कैडर में वापसी ख़ातिर विरमित किया जा चुका है।

710

पटना Live डेस्क। बिहार में दो विशेष जुमलों का दावा ताबड़तोड़ दावा वर्त्तमान NDA सरकार द्वारा किया जाता पहला सूबे में कानून का राज है। दूसरा सूबे मे पूर्ण शराबबन्दी है। लेकिन हकीकत का तफ़सरा इस बात से हो जाएगा कि मोतिहारी में नशे में धुत ASP ने IG के भाई सह मुखिया पति से केवल सरेआम गाली-गलौज की बल्कि जमकर मारपीट कर पैर तोड़ दिया।

                बिहार में शराबबंदी कानून को अमलीय जामा पहनाने को लेकर यहां के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा समीक्षा बैठक की जाती है नशामुक्ति दिवस के दिन राज्यभर के वर्दीवालों को शराब न पीने की कसम खिलाई जाती है। कानून को कानून साबित करने के लिए शादी ब्याह में महिलाओं के कमरे में पुलिसवाले शराब ढूढ़ने निकलते हैं।एक बोतल के साथ 6-6 इंजीनियर को गिरफ्तार किया जाता है। ये हाल के घटनाक्रम हैं।शराब के मामले में किसी को नहीं बख्शने की कसम खा चुकी बिहार पुलिस ऐसा कर के खूब अपना पीठ थपथपाई।

लेकिन इसी बीच एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे सुनकर आप हैरान रह जायेंगे। दरअसल पुलिस विभाग में तैनात एक IG के भाई ने ASP (अभियान) के ऊपर शराब के नशे में धुत होकर मारपीट करने और पैर तोड़ने का बेहद संगीन आरोप लगाया है। बिहार के एक अन्य जिला के DM और SP के रिश्तेदार भी हैं। इस मामले में संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने आरोपी एएसपी के खिलाफ (FIR) एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है।

          मामला बिहार के पूर्वी चंपारण जिले के छतौनी थाना क्षेत्र का है। यहां छतौनी डायट भवन स्थित मतगणना केंद्र पर शराब के नशे में एएसपी द्वारा आईजी के भाई सह मुखिया पति अवधेश सिंह के साथ मारपीट की गई और उनका दाहिना पैर तोड़ दिया गया। यह आरोप पीड़ित अवधेश सिंह ने एएसपी (अभियान) पर लगाया है। पुलिस की पिटाई से बुरी तरह जख्मी अवधेश सिंह का इलाज इलाके के एक निजी नर्सिंग होम में कराया जा रहा है। इस घटना को लेकर पीड़ित ने कोर्ट में शिकायत दर्ज़ कराई।

ग्रीन सर्कल में ASP अभियान

               मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित अवधेश सिंह मोतिहारी के कोटवा थाना क्षेत्र अंतगर्त जसौली जमुनिया गांव के रहने वाले हैं। इनकी पत्नी मीरा देवी जसौली पंचायत की मुखिया हैं।घटना के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए पीड़ित अवधेश सिंह ने बताया कि पिछले शुक्रवार को नशामुक्ति दिवस के दिन उनके साथ यह घटना हुई थी। पंचायत चुनाव के आठवें चरण में उनके यहां चुनाव था। 26 नवंबर को इस चरण का रिजल्ट आने वाला था। वह छतौनी डायट भवन स्थित मतगणना केंद्र पर इलेक्शन एजेंट और काउंटिंग एजेंट के रूप में तैनात थे। वह वेटिंग हॉल के पास प्रतीक्षा कर रहे थे। इस दौरान मोतिहारी के एएसपी (अभियान) कुमार ओमप्रकाश सिंह के साथ उनकी बकझक हो गई।

विशेष न्यायाधीश ने प्राथमिकी का दिया आदेश

                छतौनी थाना क्षेत्र के छतौनी डायट भवन स्थित मतगणना केंद्र पर गत शुक्रवार को एएसपी अभियान कुमार ओमप्रकाश सिंह ने मुखिया पति की पिटाई कर दी। इस दौरान कोटवा थाना क्षेत्र के जसौली पंचायत के जसौली जमुनिया गांव निवासी मुखिया पति अवधेश सिंह का पैर टूट गया। पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं करने पर अब मामला न्यायालय पहुंचा है।

अवधेश सिंह के द्वारा दिए गए परिवाद पर उत्पाद अधिनियम के विशेष न्यायाधीश ब्रजमोहन सिंह ने गुरुवार को मामले की सुनवाई के बाद एएसपी अभियान ओमप्रकाश सिंह पर छतौनी थाना में प्राथमिकी का निर्देश दिया है।

अवधेश सिंह ने आरोप लगाया है कि एएसपी शराब के नशे में थे, जो गाली-गलौज कर मारपीट किए। मामले में धारा 323, 325, 327, 341, 352, 500, 504 व 30 ए के तहत परिवाद दायर किया गया है। वहीं अवधेश सिंह ने डाक के माध्यम से एसपी सहित अन्य अधिकारियों को आवेदन भेजा है। बताया जाता है कि अवधेश सिंह के भाई आईजी हैं।

गंभीर आरोप और अब FIR दर्ज़ करने के निर्देश  वाले ASP (अभियान) कुमार ओमप्रकाश सिंह मूल रूप से CRPF के अधिकारी है। उल्लेखनीय है कि इनके साथ ही बिहार में बतौर ASP पैरा मिलिट्री फोर्स से 4 साल की अवधि के लिए डेपुटेशन पर नियुक्त 9 अधिकारियों की सेवा बिहार सरकर ने 17 नवम्बर को इनके मूल कैडर में वापस कर दिया और इस बाबत अधिसूचना निर्गत हो चुकी है।

लेकिन सवाल उठता है आर्डर जारी होने और सेवा मूल कैडर में वापसी के निर्णय के बावजूद जनाब न केवल जिले में मौजूद है बल्कि अब तो FiR में भी नामित हो गए है?

Comments are closed.