बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – मुथूट 55 किलो 700 ग्राम सोना लूट काण्ड – 2 आरोपी लुटेरे पुलिस हिरासत से हो गए फरार,एक को पब्लिक ने पकड़ा दूसरा हो गया फरार, वैशाली पुलिस की खुली पोल

907

पटना Live डेस्क। बिहार में अबतक के सबसे बड़े गोल्ड लूट काण्ड के बाद पुलिस मुख्यालय द्वारा सबसे बड़ी एसआईटी भी गठित की गई। ताकि सूबे के सबसे बड़े लूट काण्ड का जल्द से जल्द खुलासा हो सके , लेकिन वैशाली पुलिस इस कांड उद्भेदन को लेकर कितनी संजीदा है इसकी बानगी दिखी जहां 55 किलो सोना लूट का अपराधी पुलिस हिरासत से फरार हो गया है। इस खबर के बाद पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया है। पुलिस ने छापेमारी के बाद सात अपराधियों को गिरफ्तार किया था। इसके साथ हीं करीबआठ किलो सोना भी बरामद किया गया था। इसी बीच खबर आई है कि उसी सात में से एक अपराधी बुधवार की दोपहर बाद भगवानपुर थाने से फरार हो गया है। घटना की खबर के बाद पुलिस के होश गुम हो गए हैं।

घटना की जानकारी मिलते ही तिरहुत प्रक्षेत्र के आई जी गणेश कुमार भी भगवानपुर पहुंच गए। जानकारी के अनुसार वे15-20 मिनट ठहरे। उन्‍होंने पुलिस से इस बाबत आवश्‍यक जानकारी ली।आइजी गणेश कुमार ने कई निर्देश दिए और उसके बाद निकल गए। वहीं वैशाली के एसपी जगुनाथ जलारेड्डी भी अपराधी के फरार होने की सूचना पाकर थाने पर पहुंच गए हैं। मामले में पुलिसकर्मियों से पूछताछ की जा रही है।

जानकारी के अनुसार सोना लूट कांड में गिरफ्तार अपराधियों में से तीन को भगवानपुर थाने के हाजत में रखा गया था। बुधवार को पैक्‍स चुनाव के कारण पुलिसकर्मियों की ड्यूटी मतदान कराने मेंं लगी थी। इसी बीच एक अपराधी ने पेशाब करने के लिए बाहर जाने की बात कही। चौकीदार ने हाजत खोलकर उसे बाहर निकाला और ले जाने लगा। इसी बीच मौका पाकर दूसरा अपराधी भी हाजत से बाहर निकलकर भागने लगा। उसे भागते देख चौकीदार उसे पकड़ने गया तो पहलेवाला अपराधी भी भागने लगा। दोनों में से एक अपराधी को वहां मौजूद अन्‍य लोगों ने पकड़ा, लेकिन एक अपराधी फरार होने में सफल रहा।

वही, दूसरी तरफ पुलिस कुछ और ही तर्क है फरार आरोपी के बाबत की फरार हुआ कैदी आर्म्स एक्ट में पकड़ा गया था, जो फरार हो गया है। लेकिन थाने से ही जुड़े विश्वस्त सूत्रों का दावा है कि भगवानपुर थाने से फरार हुए आरोपी को विगत 3 दिनों से थाने में रखा गया था। इससे लगातार पूछताछ की जा रही थी। दरअसल, भगवानपुर थाने में विगत 3 दिनों से कुल 3 लूट में शामिल आरोपियों को रखा गया था।

 

उल्लेखनीय है कि कल ही वैशाली पुलिस ने देश के चर्चित मुथूट फाइनेंस लूट मामले में दो अपराधियों को गिरफ्तार करने का दावा किया है। हालांकि लूटे गए सोने के जेवरात बरामद नहीं हुए हैं। पकड़े गए अपराधियों के पास से लूट में शामिल पल्सर बाइक, मोबाइल व जेवरात के कागजात बरामद किए गए हैं। एसपी जगुनाथ रेड्डी जलारेड्‌डी ने बताया लूट में शामिल पल्सर बाइक की पहचान से नगर थाना क्षेत्र के अनवरपुर चौक निवासी अफताब आलम के पुत्र आसिफ को गुप्त सूचना के आधार पर जढुआ से गिरफ्तार किया गया है। वहीं लाइनर के रूम में शामिल बिदुपुर थाना क्षेत्र के रहिमापुर निवासी गणेश झा के पुत्र निशांत झा उर्फ बाबा को उसके घर से गिरफ्तार किया गया है। इसके पास से जेवरात के पेपर व लूट के समय जिस मोबाइल से बात की गई थी वह मोबाइल बरामद की गई है।

55 किलो 700 ग्राम सोने की हुई थी लूट

बीते 23 नवंबर को यादव चौक के निकट स्थित मुथूट फाइनेंस से 55 किलो सोने की लूट हुई थी। इस घटना को उस वक्त 7 अपराधियों ने मिलकर अंजाम दिया था। बताते चले कि दिन के उजाले में देश की यह सबसे बड़ी ज्वैलरी लूट की घटना थी। इस कांड के बाद पटना मुख्यालय से तिरहुत आइजी के नेतृत्व में राज्य की सबसे बड़ी एसआइटी का गठन किया गया था।

अबतक की बड़ी लूट की ये वारदातें

अब से पहले जिले में सोना लूट की एक बड़ी वारदात हाजीपुर के सुरभी ज्वेलर्स में इसी साल हुई थी। इसमें भी अपराधियों ने लगभग 2 करोड़ के सोने की लूट की थी। -इसी साल महुआ में बैंक लूट करने आए अपराधियों ने लूट में असफल होने पर गार्ड की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसी साल 29 जुलाई को हाजीपुर के अंजानपीर चौक के निकट कुरियर कंपनी के कर्मियों को बंधक बनाकर 15 लाख रुपए की लूट हुई थी। बीते 4 नवंबर को हाजीपुर पटना रोड स्थित जय मातादी पेट्रोल पंप से अपराधियों ने 6 लाख रुपए लूट लिए थे। 5 नवंबर को सदर थाना क्षेत्र के दिघी में अपराधियों ने कुरियर कंपनी में घुसकर 7 लाख रुपए लूटे थे। इसके अलावे भी वैशाली जिले में लूट की छोटी बड़ी 2 सौ से ज्यादा घटना इस साल घटी है। मुथूट फाइनेंस से लूट के बाद भी लगभग 6 लूट की वारदात जिले में हो चुकी है।

3 हजार लोगों के थे गहने

जिस फाइनेंस कंपनी में अपराधियों ने सोने के जेवर लूटे वहां जिले के 3 हजार लोगों के सोने के गहने गिरवी रखे गए थे। हालांकि इस कंपनी के नियम के अनुसार उन सभी लोगों को उनके गहनों की पूरी कीमत दी जाएगी।

13 लोग लूट में शामिल

एसपी ने बताया कि इस लूट कांड में कुल 13 लोग शामिल हैं। जिसमें वैशाली जिले से कुल 6 अपराधी शामिल है। बाकी अपराधी दुसरे जिले व दुसरे राज्य के भी है। सभी अपराधियों की पहचान कर ली गई है। इसमें कुछ अपराधी पुराने सोना लूट कांड में भी शामिल थे। इन्हें पकड़ने के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। उन्होंने दावा किया है कि बहुत जल्द ही अपराधी व लूटा गया सोना बरामद कर लिया जाएगा। जिन अपराधियों की पहचान हुई है उन अपराधियों का रिकार्ड कई लूट कांड में पाया गया है। पुलिस द्वारा जारी स्केच से ही अपराधियों की पहचान हो पाई है। उन्होंने बताया कि इस लूट में कुल 13 अपराधी शामिल थे। जिसमें कुछ अपराधी लाइनर और रेकी का काम कर रहा था।

Comments are closed.