बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

इंजीनियरिंग छोड़ चुनावी मैदान में कूदी अनुष्का, मात्र 21 साल में बन गई मुखिया

161

पटना Live डेस्क। बिहार में पंचायत चुनाव का दौर चल रहा है। अब तक सात चरण के चुनाव खत्म हो चुके हैं। इस दौरान कई चर्चित चेहरों को मुंह की खानी पड़ी है जबकि कुछ नए चेहरों ने जीत कर पंचायत चुनाव में अपना परचम लहराया है। ऐसा ही एक मामला शिवहर से आया है। जहां से अनुष्का कुमारी ने मुखिया का चुनाव जीतकर बिहार में सबसे कम उम्र की मुखिया बनने का रिकॉर्ड बनाया है। अनुष्का कुमारी शिवहर प्रखंड के कुशहर पंचायत से मुखिया बनी है। इसके साथ ही अनुष्का ने जिले के कुशहर पंचायत की सबसे कम उम्र की मुखिया बनने का कारनामा किया है।
शिवहर के कुशहर पंचायत की मुखिया बनी अनुष्का महज 21 साल की है। उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी रीता देवी को 287 वोटों से हराकर मुखिया पद का चुनाव जीता है। नवनिर्वाचित मुखिया अनुष्का कुमारी को 2625 वोट मिले जबकि उनकी प्रतिद्वंदी रीता देवी को 2338 मत प्राप्त हुए। मुखिया बनने के बाद अनुष्का कुमारी ने अपनी इस यादगार जीत का श्रेय कुशहर की जनता को दिया है। उन्होंने कहा है कि कुशहर पंचायत की जनता की यह जीत है। जनता ने उन्हें बड़ी जिम्मेदारी दी है। अब वह पंचायत का सर्वांगीन विकास कराएगी।
बता दें कि शिवहर के कुशहर पंचायत की युवा मुखिया बनी अनुष्का कुमारी बेंगलुरु के प्रतिष्ठित संस्थान से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रही थी। इसी दौरान उनका गांव आना हुआ और फिर इंजीनियर बनने का सपना छोड़कर समाजसेवा के रास्ते नेता बन गई अनुष्का। अनुष्का की प्रारंभिक पढ़ाई गांव के स्कूल से ही शुरू हुई और आगे की पढ़ाई फिर पटना से हुई। अनुष्का के पिता सुनील कुमार सिंह 2011 से 2016 तक जिला पार्षद रह चुके हैं जबकि दादा राजमंगल सिंह 1978 से 2001 तक पंचायत के मुखिया रह चुके हैं। बतातें चलें कि मुखिया बनी अनुष्का कुमारी के लिए यहां तक पहुंचना इतना आसान नहीं था। परिजन उनके चुनाव लड़ने के खिलाफ थे यहां तक कि नामांकन के बाद भी परिजन अनुष्का के चुनाव लड़ने के खिलाफ थे। लेकिन अनुष्का के आगे किसी की नहीं चली वह मुखिया बनकर ही रुकी।

Comments are closed.