बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Shailesh Yadav IAS की कुण्डली(वीडियो) पश्चिम त्रिपुरा DM से पहले की हरी कथा हरि कथा अनंता आर्मी में थे डॉक्टर, ड्रग्स लेने पर निकाले गए थे जनाब

वायरल वीडियो में DM साहब खुद चिल्ला चिल्लाकर कहते है कि जब हम डॉक्टर थे फिर अपशब्दों की बौछर, अम्बेडकर नगर से अगरतला 2013 बैच के आईएएस शैलेश यादव बेहद जुनूनी और कड़क अधिकारियों में शुमार किए जाते है।

672

पटना Live डेस्क। कोरोना के कहर के बीच सोशल मीडिया पर सबसे ज्यादा चर्चित और इंटरनेट पर घनघोर ढंग से वायरल वीडियो का नायक उत्तर पूर्वी राज्य त्रिपुरा के आईएएस डॉ. शैलेश कुमार यादव ताबड़तोड़ व लगातार सुर्खियों में हैं। ये इस समय पश्चिम त्रिपुरा के जिला कलेक्टर (Tripura DM) पद पर कार्यरत हैं। दो दिन पहले यहां के एक मैरिज गार्डन में आयोजित शादी समारोह में एनवक्त पर पहुंचकर आईएएस शैलेश यादव ने जिस ढंग से कोविड-19 की गाइड की पालना करवाई उसके बाद से ट्रोल हो रहे हैं।

उत्तर पूर्वी राज्य के पश्चिमी त्रिपुरा जिले से कोविड-19 की गाइडलाइन की पालना करवाने के लिए आईएएस अधिकारी शैलेष कुमार यादव द्वारा लोगों के साथ अभद्रता करने का मामला सामने आया है। दो मिनट का वीडियो भी सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो वायरल होने के बाद आईएएस यादव ने माफी मांगी है।

कोरोना की वजह से त्रिपुरा में नाइट कर्फ्यू

दरअसल, हुआ ये कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर से हिंदुस्तान के कोने-कोने में कहर बरप रहा है। उत्तर पूर्वी राज्य भी कोरोना से अछूते नहीं हैं। त्रिपुरा में तो सरकार ने 22 अप्रैल से 30 अप्रैल के बीच रात दस बजे से सुबह पांच बजे तक नाईट कर्फ्यू लगा रखा है।

इस बीच पश्चिमी त्रिपुरा जिले में एक शादी समारोह था। रात को जिला कलेक्टर IAS शैलेश कुमार यादव दल बल के साथ मैरिज हॉल पहुंचे और कोरोना की गाइडलाइन का उल्लंघन करने का हवाला लेते हुए दूल्हा, पंडित व अन्य लोगों को पीट डाला और मैरिज हॉल को सील करवा दिया।

पूरी घटना को किसी ने मोबाइल के कैमरे में कैद कर लिया, जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया में वायरल हो रहा हैं और लोग पश्चिमी त्रिपुरा के जिला कलेक्टर शैलेश कुमार यादव को ट्रोल कर रहे हैं। वायरल वीडियो में दिख रहा है कि आईएएस शैलेश यादव काफी गुस्से में नजर आ रहे थे। उन्होंने कोविड प्रोटोकॉल का उल्लंघन कर रहे लोगों के साथ-साथ दूल्हे को भी धक्के मारकर बाहर निकाल दिया। आपदा प्रबंधन अधिनियम और अन्य मामलों के तहत केस दर्ज किया। साथ ही डीएम ने करीब 30 लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया। हालांकि बाद में सभी को छोड़ दिया।

चार विधायकों ने की निलंबन की मांग

वहीं, विपक्षी सीपीएम ने डीएम शैलेश कुमार के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। इसके अलावा त्रिपुरा के चार विधायकों ने भी चीफ सेक्रेटरी को पत्र लिखकर डीएम शैलेश यादव को सस्पेंड करने की मांग की है। भाजपा सांसद प्रतिमा भौमिक ने कहा है कि वह इस घटना को लेकर दुल्हन के रिश्तेदारों से भी मिलेंगी।

सीएम ने मांगी पूरे मामले की रिपोर्ट

पश्चिम त्रिपुरा जिले के डीएम शैलेश कुमार यादव का वायरल वीडियो सामने आने के बाद त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने मुख्य सचिव मनोज कुमार को घटना की रिपोर्ट देने को कहा है। हालांकि डीएम यादव ने कहा है कि उन्होंने किसी की भावना आहत करने के मकसद से ऐसा कुछ नहीं किया है। साथ ही डीएम शैलेश कुमार ने इसके लिए माफ़ी भी मांगी है।

आईएएस शैलेश कुमार यादव की जीवनी

त्रिपुरा कैडर के आईएएस शैलेश कुमार यादव उत्तरप्रदेश के अम्बेडकर नगर के रहने वाले हैं। अपनी शुरुआती पढ़ाई सरकारी स्कूल से की है। 35 वर्षीय शैलेश कुमार यादव ने 2013 में यूपीएससी परीक्षा पास की थी। पश्चिम त्रिपुरा जिले के डीएम के साथ-साथ इनके पास अगरतला स्मार्ट सिटी लिमिटेड के सीईओ का भी कार्यभार है। इससे पहले अगरतला नगर निगम के आयुक्त रह चुके हैं।

 चिल्लाने लगे -तुम्हारे जन्म से पहले डाक्टर बने

Comments are closed.