बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

असफलता चुनौती है स्वीकार करो,कोई कमी रही होगी और सुधार करो-IPS कुमार आशीष की सार्थक पहल “अपील”

अपेक्षा अनुरूप किसी विद्यार्थी का परिणाम न आया हो, वह असफल हुआ हो तो भी दु:खी और निराश होने की जरूरत नहीं धीर बने मेहनत करते रहे सफलता जरूर मिलेगी

284

पटना Live डेस्क। बिहार बोर्ड ने शुक्रवार 26 मार्च को इंटर परीक्षा का रिजल्ट जारी कर दिया। कुल पास प्रतिशत 78.04 फीसदी रहा जो कि पिछले वर्ष (80.44 फीसदी) के मुकाबले 2.4 फीसदी कम है। आर्ट्स में 77.97 फीसदी, कॉमर्स में 91.48 फीसदी और विज्ञान में 76.28 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए।बड़ी संख्या में छात्र पास हुए हैं तो फेल होने वालों की भी बड़ी तादाद है।

जो स्टूडेंट सफल होने के साथ साथ अपनी उम्मीद के मुताबिक नंबर पाने में सफल रहे हैं, खुशी से उनके पांव जमीन पर नहीं पड़ रहे होंगे। स्व-प्रेरित ऐसे बच्चे आगे अपने सपनों को पूरा करने को लेकर उत्साह से भरे होंगे। लेकिन जिन बच्चों के नंबर कम आए हैं या फिर किसी कारण फेल हो गए हैं, उन्हें निकम्मा कहकर खारिज नहीं किया जा सकता। उन्हें शर्मिंदा करने या उन्हें डांटने-फटकारने की बजाय उनका हौसला बढ़ाने और उनकी पसंद की दिशा में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करने की जरूरत है।

 सार्थक पहल “अपील”

बिहार की ज़रखेज माटी के लाल हर दिल अज़ीज़ और सूबे के युवावर्ग के रोल मॉडल किशनगंज के पुलिस अधीक्षक IPS कुमार आशीष बिहार बोर्ड के इंटरमीडिएट की परीक्षा में सफल हुए विद्यार्थियों को बधाई देते हुए घोषित हुए परीक्षाफल में विज्ञान संकाय में सोनाली कुमारी ने 471 (94.20%), वाणिज्य संकाय में सुगंधा कुमारी ने 471 (94.20%) और कला संकाय में मधुभारती ने 463 एवं कैलाश कुमार ने 463(92.60%) अंक पाकर राज्य में प्रथम स्थान हासिल किया हैं को विशेष बधाई दी।साथ ही सभी सफल विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए अशेष शुभकामनाएं दी।

किशनगंज SP ने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के इंटरमीडिएट यानि 12वीं की परीक्षा का रिजल्ट घोषित होने पर एक अपील के माध्यम से बेहद सार्थक पहल की है।अपील के जरिए आईपीएस कुमार आशीष ने असफलता को चुनौती के तौर स्वीकार करने की प्रेरणा दी है। साथ ही उन्होंने राष्ट्रकवि की उपाधि से अलंकृत हिंदी के प्रसिद्ध कवि सोहन लाल द्विवेदी के ऊर्जा व चेतना से लबरेज कविता की पंक्तियों को साझा किया है

असफलता एक चुनौती है, स्वीकार करो
क्या कमी रह गई, देखो और सुधार करो
जब तक न सफल हो, नींद चैन को त्यागो तुम
संघर्ष का मैदान छोड़ मत भागो तुम
कुछ किये बिना ही जय जय कार नहीं होती
कोशिश करने वालों की हार नहीं होती

धीर बने मेहनत करते रहे सफलता जरूर मिलेगी

साथ ही किशनगंज पुलिस अधीक्षक ने बेहद सार्थक संदेश के तौर पर लिखा है कि “अपेक्षा अनुरूप किसी विद्यार्थी का परिणाम न आया हो, वह असफल हुआ हो या किसी भी  कारण वश रिजल्ट नही आया हो तो भी दु:खी और निराश होने की जरूरत नहीं है। किसी तरह का गलत कदम न उठाए या निराशा को किसी भी रूप में खुद पर हावी न होने दे। धैर्यपूर्वक पढ़ाई करे सफलता निश्चित मिलेगी। एक बार फेल या पास होने से जिंदगी थम या बर्बाद नही हो जाती।

अपनी क्षमताओं को पहचाने और मजबूती के साथ पुनः तैयारी में लगे। मेहनत का फल हमेशा मीठा होता है।ज़िंदगी मे बहुत मौके मिलेंगे,इस लिए अपने और अपने परिवार ख़ातिर कोई भी बेजा कदम न उठाए। जीवनपथ पर अभी और भी बहुत मौके मिलेंगे। कई परीक्षाओं में अपनी क्षमता का प्रदर्शन करने का अवसर मिलेगा,जिसमे आप सफल होंगे। उम्मीद का दामन कभी न छोड़े। धीर बने मेहनत करे सफलता जरूर मिलेगी।

Comments are closed.