BiG News – नीतीश कुमार पर गिरिराज के तंज से अमित शाह नाराज, फोन कर लगाई जमकर फटकार

85

पटना Live डेस्क। बिहार में जदयू और भाजपा के बीच जारी बयानबाजियों के बीच केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने ‘इफ्तार’ पार्टी में शामिल होने के लिए मंगलवार को राजग के अपने सहयोगियों पर तंज कसा, जिस पर राजग नेताओं ने कड़ी प्रतिक्रिया का दौर शुरू हो गया। जदयू के नेताओं के गिरिराज सिंह के बयान को लेकर उन्हें आड़े हाथ लेना शुरू कर दिया। इसके बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) की इफ्तार पार्टी पर तंज कसने के मामले को लेकर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने गिरिराज सिंह की फोन पर क्लास लगाई है। बीजेपी अध्यक्ष ने ट्वीट पर नाराजगी जताते हुए गिरिराज को हिदायत दी कि वह इस तरह के बयान न दें। वही जदयू सुप्रीमो  सह बिहार के मुख्यमंत्री ने भी गिरिराज सिंह के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि वह (गिरिराज सिंह) यह सब इसलिए करते हैं ताकि खबरों में रहा जा सके। यही नहीं, जेडीयू के नेताओं ने गिरिराज सिंह के खिलाफ बीजेपी से कार्रवाई करने की मांग भी की थी।

दरअसल, गिरिराज सिंह ने ‘इफ्तार’ में शामिल होने वाले बिहार राजग के नेताओं की फोटो ट्वीट की। इसमें मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान भी शामिल हुए थे। गिरिराज ने हिंदी में ट्वीट किया, ‘‘कितनी खूबसूरत तस्वीर होती जब इतनी ही चाहत से नवरात्रि पर फलाहार का आयोजन करते और सुंदर सुंदर फोटो आते? अपने कर्म धर्म से हम पिछड़ क्यों जाते हैं और दिखावे में आगे रहते हैं।”

बिहार कैबिनेट में नीतीश कुमार के साथ काम करने के दौरान उनके विरोधी रहे गिरिराज सिंह के बारे में ऐसा प्रतीत हुआ कि उन्होंने विशेष तौर पर मुख्यमंत्री को निशाना बनाया जो सभी फोटोग्राफ में नमाजी टोपी में नजर आये और नमाज के रूमाल से उनका कंधा ढंका हुआ था। एक फोटो में बिहार के भाजपा के वरिष्ठ नेता और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी नजर आये।फोटोग्राफ इफ्तार पार्टी के थे जिसे लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष रामविलास पासवान और विपक्ष के नेता जीतन राम मांझी ने पटना में आयोजित किया था।

गिरिराज सिंह के ट्वीट पर भाजपा के सहयोगियों ने तीखी प्रतिक्रिया जतायी। लोजपा के नेता चिराग पासवान ने कहा कि उनके बयान भारतीय परंपराओं पर सवाल खड़े करते हैं। भाजपा नेता पर पलटवार करते हुए चिराग पासवान ने कहा कि उनकी पार्टी ‘‘सबका साथ, सबका विश्वास, सबका विकास” में विश्वास करती है जो नारा हाल में राजग की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिया था।

‘गिरिराज की नसीहत देने की नहीं हैसियत’

बता दें कि गिरिराज के इस तंज पर जेडीयू के वरिष्ठ नेता और भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी ने कहा, ‘उनकी इतनी हैसियत ही नहीं है कि वह हमारे नेता नीतीश कुमार को कोई नसीहत दें।’ उन्होंने कहा, ‘यह वही गिरिराज सिंह हैं, जो चुनाव के वक्त नीतीशजी को 10 बार फोन करते थे और अपने पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए आग्रह किया करते थे।’ चौधरी ने कहा कि आज वह जो 4.5 लाख वोट से जीतकर संसद पहुंचे है और मंत्री बने हैं वह नीतीश कुमार की ही देन है।

वहीं, जदयू के नेता और राज्य के मंत्री अशोक चौधरी यही नही रुके बल्कि चेतावनी तक दे डाली। गिरिराज सिंह पर पलटवार करते हुए कहा, ‘‘क्या किसी ने गिरिराज को नवरात्रि के दौरान फलाहार का आयोजन करने से रोका है? मैं उन्हें चेतावनी देना चाहता हूं कि इस तरह के बयानों से दूर रहें।”

Loading...