बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – मंगलवार को RJD की सियासत को लगा जोरदार झटका, 5 MLC के बाद राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद का इस्तीफा

371

पटना Live डेस्क। बिहार की सियासत में मंगलवार को अचानक हुए सियासी उछलकूद और दल बदल की वजह से राजद को एक एक कर 3 झटके लगे। विधान परिषद चुनाव के ठीक पहले राजद (RJD) एक बड़ी टूट की तरफ बढ़ रही है। राजद के 5 MLC एक साथ पार्टी छोड़ गए। पार्टी छोड़ने वालो में पार्टी के एमएलसी संजय प्रसाद, कमरे आलम, राधाचरण सेठ, रणविजय सिंह और दिलीप राय शामिल है।

अभी पार्टी के कर्ता धर्ता तेजस्वी यादव डैमेज कंट्रोल की कवायद में जुटे ही थे कि दल के बेहद समर्पित और कद्दावर नेता ने राष्ट्रीय जनता दल (RJD) को एक और बड़ा झटका दे दिया। दरअसल, पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह (Raghuvansh Prasad Singh) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बताया जा रहा है कि वे रामा सिंह को राजद में शामिल किए जाने को लेकर नाराज हैं।

रघुवंश प्रसाद सिंह कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) हैं और उनका इलाज अभी पटना के एम्स में चल रहा है।बता दें कि लोक जनशक्ति पार्टी के पूर्व सांसद (LJP) और बाहुबली कहे जाने वाले राम किशोर सिंह उर्फ रामा सिंह (Rama Singh) चुनाव से ठीक पहले लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की पार्टी RJD का दामन थामने की बात कही जा रही है।चर्चा है कि कि रामा सिंह 29 जून को राजद ज्वाइन करेंगे। इसी बात से रघुवंश प्रसाद सिंह नाराज बताए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि दो दिन पहले ही रामा सिंह ने तेजस्वी यादव से मुलाकात की थी और चर्चा ये है कि उनके साथ ही सवर्ण समाज से कई अन्य नेता भी राजद में शामिल होंगे। किसी जमाने में लालू और रघुवंश के क’ट्टर विरोधी रहे  पूर्व सांसद रामा सिंह के शामिल किए जाने की खबरों से पार्टी के भीतर कई नेता नाराज बताए जा रहे हैं।

रघुवंश व रामा में रही है राजनीतिक अदावत

रामा सिंह वही नेता हैं जो कभी लालू प्रसाद यादव और आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह के क’ट्टर विरोधी माने जाते थे। 2014 के लोकसभा चुनाव में रामा सिंह ने करीब एक लाख से ज्यादा वोट से रघुवंश प्रसाद सिंह को वैशाली से हराया था।

Comments are closed.