बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive-बिहार में 10 साल में 100 गुना बढ़े साइबर अपराध से निपटने ख़ातिर 40 डीएसपी की तैनाती ओ मिली स्वीकृति

Cyber Crime in Bihar: 10 साल में 100 गुना बढ़े साइबर अपराध से निपटने ख़ातिर बिहार सरकार ने 40 डीएसपी की तैनाती को दी मंजूरी, अब इस निर्णय के तहत हर जिले में तैनात होंगे डीएसपी साइबर क्राइम,अभी तक 2,687 पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों

257

पटना Live डेस्क। सूबे में डिजिटल होती अर्थव्‍यवस्‍था के साथ ही साइबर अपराध भी लागातर बढ़े हैं। इसी वर्ष फरवरी के महिने में बिहार विधान परिषद में उठाए गए एक सवाल के जवाब में मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार की तरफ से बताया गया कि ऐसे अपराध 10 साल में 100 गुना बढ़े हैं। जबकि, इस अवधि के दौरान ऑनलाइन लेन-देन 15 से 20 गुना हीं बढ़े हैं। बिहार में सर्वाधिक साइबर अपराध पटना में होते हैं।

सूबे की बढ़ती जनसख्या और अपराध के नए तौर तरीकों की समीक्षा के बाद आखिरकार सूबे की सरकार ने बिहार पुलिस में कुल 181 अतिरिक्त पदों का न केवल सृजन किया है बल्कि बाकायदा इन पदों की स्वीकृति भी प्रदान कर दिया गया हैं। इस नई कवायद के तहत अब नव सृजित पदों में से 40 पुलिस उपाधीक्षको सिर्फ और सिर्फ साइबर अपराध से जुड़े क्राइम ख़ातिर हर पुलिस जिले में तैनात किए जाएगे।
उल्लेखनीय है कि पदों की स्वीकृति की प्रक्रिया के दौरान गृह विभाग और पुलिस मुख्यालय ने साइबर अपराध पर नियंत्रण व बचाव के लिए पुलिस अधिकारियों और लोक अभियोजकों को लगातार साइबर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। बिहार सरकार व बिहार पुलिस मुख्यालय के तत्वधान से अबतक 2,687 पुलिस पदाधिकारियों व कर्मियों व लोक अभियोजकों को प्रशिक्षित करने का काम पूरा हो चुका है।

उल्लेखनीय है कि बिहार में ऑनलाइन या डिजिटल आधारित अर्थव्‍यवस्‍था (Digital Economy) के निर्माण में तेजी के साथ साइबर अपराध भी बढ़ते जा रहे हैं। बिहार में वर्ष 2016 में 309 मामले, वर्ष 2017 में 433 मामले व वर्ष 2018 में साइबर अपराध के 474 मामले दर्ज किये गये. इसके बाद वर्ष 2019 में मामले दोगुना से अधिक होकर 1050 हो गये।इसी प्रकार, वर्ष 2020 में 1160 मामले और वर्ष 2021 में दिसंबर तक 1217 मामले दर्ज किये जा चुके हैं।वर्ष 2016 से वर्ष 2021 तक बिहार में कुल 4643 मामले दर्ज किये गये हैं। यह आंकड़ा यह बता रहा है कि सूबे में हरसाल साइबर अपराध के मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

साइबर अपराध में पटना टॉप पर

राष्‍ट्रीय क्राइम रिकार्ड ब्‍यूरो (NCRB) की बीते साल जारी रिपोर्ट के अनुसार बिहार के 40 पुलिस जिलाें में सर्वाधिक साइबर अपराध पटना में होते हैं। साल 2020 में पटना में साइबर अपराध के सर्वाधिक 466 मामले दर्ज किए गए। इनमें क्रेडिट व डेविड कार्ड से ठगी के 334 तथा एटीएम ठगी के 132 मामले शामिल हैं। पटना के बाद 90 मामलों के साथ सारण जिला दूसरे नंबर पर रहा, जिनमें जिसमें 76 मामले डेबिट व क्रेडिट कार्ड से ठगी के तो 14 एटीएम कार्ड से ठगी के रहे। वही एटीएम ठगी के 84 मामलों के साथ वैशाली तीसरे नंबर पर है।

Comments are closed.