बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – ATM में कैश डालने के बदले SIS के कर्मी 4 करोड़ रुपए लेकर हुए फरार

72
  • रांची के सदर थाने में मामला दर्ज
  • एटीएम में डालने के बदले 4 करोड़ रुपये लेकर फरार हुए एजेंसी कर्मी
  • छानबीन में एटीएम (ATM) के सेटिंग्स में छेड़छाड़ कर घटना को अंजाम देने की बात सामने आई है।
  • ATM सेटिंग्स में गड़बड़ी कर बड़े नोटों की जगह छोटे नोट रीफिल कर यह खेल खेला गया है।

पटना Live (झारखंड) डेस्क। पड़ोसी राज्य झारखंड की राजधानी रांची से एक बड़ी खबर आ रही है। जहां एसबीआई और यूबीआई के एटीएम (ATM) में पैसा डालने के बदले निजी एजेंसी के दो कर्मचारी 4 करोड़ 7 लाख 53 हजार रुपये लेकर फरार हो गये। दोनों कर्मी कैश मैनेजमेंट सर्विस प्राइवेट लिमिटेड के हैं। इस एजेंसी के द्वारा एसबीआई (SBI) के 16 और यूबीआई (UBI) के 4 एटीएम में ये रकम डाला जाना था। घटना सामने आने के बाद एजेंसी की छानबीन में कुल 17 एटीएम में गड़बड़ी की बात सामने आई है। एजेंसी की शिकायत पर इस सिलसिले में सदर थाने में प्राथमिकी (FIR) दर्ज की गई है। प्राथमिकी में दोनों फरार कर्मियों पर पैसे गबन करने का आरोप लगाया गया है। आरोपी गणेश कुमार ठाकुर बिहार के सुपौल के और शिवम कुमार समस्तीपुर के रहने वाले हैं।

इस बड़ी वारदात के बाबत एजेंसी ने बताया कि संस्थान निजी और सरकारी बैंकों का पैसा एटीएम तक पहुंचाने का काम करती है।।इसके लिए हर रूट पर कैश वैन से एटीएम तक पैसा पहुंचाने के लिए दो कर्मियों को तैनात किये गये हैं। एजेंसी ने रूट नंबर 106 के 20 एटीएम में पैसा डालने के लिए गणेश कुमार ठाकुर और शिवम कुमार को नियुक्त किया था।गणेश पिछले डेढ़ माह से जबकि शिवम 6 दिन से एटीएम में पैसे डाल रहा था। लेकिन एजेंसी के कॉल सेंटर से जब 15 दिसंबर को दोनों को फोन गया, तो उनका फोन बंद था। 16 दिसंबर को दोनों कर्मी ऑफिस नहीं आए। इसके बाद खोजबीन करने पर दोनों लापता पाए गये।एजेंसी के मुताबिक पैसे की गड़बड़ी 5 से 14 दिसंबर के बीच की गई।

इस मामले में पुलिस ने विशेष टीम गठित कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस की टीम आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए बिहार भी जाएगी। शुरुआती छानबीन में एटीएम के सेटिंग्स में छेड़छाड़ कर घटना को अंजाम देने की बात सामने आई है।सेटिंग्स में गड़बड़ी कर बड़े नोटों की जगह छोटे नोट रीफिल कर यह खेल खेला गया है।

Comments are closed.