बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News(वीडियो) एक पखवारे में लूट की 3 बड़ी वारदात और पटना पुलिस के फुस्स होते दावे से दहशत में कारोबारी

17

- Advertisement -

  • 4 फरवरी 4 लुटेरो ने लूट लिए 90 लाख के गहने और एक लाख कैश
  • 19 जनवरी दवा दुकान में लूट, CCTv कैद हुई वारदात, पुलिस ने जल्द पकड़े का किया दावा
  • 2 फरवरी फिर दवा दुकान में हुई लूट सीसीटीवी में कैद पूरी वारदात बिल्कुल 19 जनवरी जैसी वारदात
  • एसएसपी पटना के फिर से दावा जल्द होंगे लुटेरे गिरफ्तार पर कारोबारियों का सवाल आखिर कब ?

पटना Live डेस्क। बिहार में कानून के राज का दावा वर्त्तमान समय मे चारो खाने चित्त होता प्रतीत हो रहा है। बेलगाम अपराधियों के आगे बिहार पुलिस बेबस और लाचार नज़र आ रही है। सूबे की बात कौन करे जब सुशासन सरकार के नाक के नीचे यानी राजधानी पटना में लुटेरों के बेखौफ वारदातों से कारोबारियों और दुकानदारो में दहशत का आलम है। पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा के सुरक्षित राजधानी के दावों की धज़्ज़िया उड़ाते हुए अपराधियों ने नए साल के पहले ही दिन से वारदातों की छड़ी लगाते हुए पुलिस को बैकफूट पर धकेल दिया है। लगातार कैश लूट की वारदातों से दुकानदारो और व्यवसाय करने वालो में दहशत का माहौल कायम हो गया है।

पटना में एक पखवारे (Fortnight) के अंदर लूट की तीन बड़ी घटनाओं के कारण दहशत (Panic) है। लोग कानून-व्‍यवस्‍था (Law and Order) पर सवाल उठा रहे हैं। सवाल यह भी है कि क्‍या पटना में लूट का कोई गिरोह सक्रिय हो गया है? इस बीच पुलिस (Police) ने अपराधियों की शिनाख्‍त कर उनकी शीघ्र गिरफ्तारी का दावा दुहराया है।

- Advertisement -

खगौल थाने से महज 250 मीटर दूर इतनी बड़ी वारदात की सूचना से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। एसएसपी, सिटी एसपी, डीएसपी से लेकर आसपास के थानों की पुलिस मौके पर पहुंचकर छानबीन में जुट गई। घायल दुकानदार सुजीत को इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। खगौल के थानेदार मुकेश कुमार ने कहा कि पूरी छानबीन के बाद ही लूट की पूरी राशि का पता चल सकेगा। हालांकि, दुकानदार ने 90 लाख रुपये के सोने-चांदी के जेवरों की लूट बताई है।

4 फरवरी 4 लुटेरो ने लुटे 90 लाख के गहने

ताजा वारदात में बेखौफ लुटेरों ने खगौल थाने से महज 250 मीटर दूर थाना क्षेत्र के अतिव्यस्त इलाके जयराम बाजार में स्थित ‘शिवम ज्‍वेलर्स’ (Shivam jewellers) में लूट की बड़ी वारदात को अंजाम दिया और बड़े आराम से फरार हो गए।

वही वारदात मिली जानकारी के अनुसार दानापुर के खगौल में आभूषण दुकान ‘शिवम ज्‍वेलर्स में ग्राहक बनकर घुसे लुटेरों ने पिस्‍टक की बट से मार, फिर स्‍प्रे छिड़ककर दुकानदार को अचेत कर दिया। इसके बाद आराम से लूटपाट की। स्‍प्रे छिड़क बेहोश करने के बाद लूट की यह वारदात अपने-आप में अनोखी है। लूट के बाद अपराधी सीसीटीवी का पूरा सेट भी लेकर चलते बने।

दुकानदार की जुबानी

शिवम ज्वैलर्स के मालिक सुजीत ने बताया कि दोपहर में लगभग 3.30 बजे वे दुकान में अकेले बैठे थे। इसी दौरान दो लुटेरे ग्राहक बनकर पहुंचे। दोनों ने बहन की शादी के लिए सोने चांदी के गहने खरीदने की बात बताई और गहने दिखाने को कहने लगा। सुजीत ने सोने चांदी के विभिन्न डिजाइन के आभूषण दिखाए। वो दिखाते जा रहे थे और दोनों लुटेरे जरा वो दिखाई ये जरा ये दिखाइए कहते और मोलभाव भी करते रहे। इस तरह जब ढेर सारे गहने सुजीत ने निकालकर काउंटर पर रख दिया तो अचानक 2 अन्य लुटेरे भी आ दुकान के अंदर आ धमके जो बाहर थे।

अंदर आते ही उनमें से एक ने पिस्टल निकालकर काउंटर पर रख दिया और जेवर इकट्ठा करने लगा साथ ही वह और जेवर मांगने लगा। जब सुजीत ने विरोध किया तो काउंटर पर रखे पिस्टल की बट से सिर पर वार कर दिया। इतने में दूसरे अपराधी ने जेब से स्प्रे निकाला और चेहरे पर छिड़क दिया। दुकानदार ने बताया कि स्प्रे से वे सुधबुध खोते चले गए। इसके बाद दुकान में क्या हुआ,उन्‍हें जानकारी नहीं है।

राजधानी में मंगलवार की शाम में हुई इस वारदात में लुटेरों ने ज्वेलर्स से 90 लाख के आभूषण लूट लिए। लूट की यह पहली वारदात नही है बल्कि इसके पहले पटना में 2 फरवरी की रात एक दवा दुकान से 20 हजार लूटे गए थे। वही करीब एक पखवारा पहले 19 जनवरी की रात दानापुर की एक दवा दुकान में लूटपाट की गई थी।

लूट की वारदातें व पटना पुलिस के सिर्फ दावे

दोनों लूट की घटनाओं की तस्वीर सीसीटीवी फुटेज में कैद हुई है। 19 जनवरी की लूट के बाबत पटना के एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने दावा किया था कि गैंग की पहचान हो गई है। जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। लेकिन गैंग की पहचान के दावे हवाहवाई साबित हुए और दावो को फुस्स साबित करते हुए दुबारा एक मेडिसिन शॉप को लूट लिया।

दरअसल, पटना में एक नया हेलमेट गिरोह सक्रिय हाे गया है। इसने पुलिस के लिए चुनौती खड़ी कर दी है। रामकृष्णानगर के चांगर माेड़ के पास शनिवार यानी 2 फरवरी की रात मेडिकेयर नामक दवा दुकान से हथियार के बलपर दो अपराधियों ने 20 हजार रुपए लूट लिए थे। दोनों की तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी।

इससे 13 दिन पहले 19 जनवरी की रात इन्हीं दोनों ने रूपसपुर थाने के रूकुनपुरा में संजीवनी नामक दवा दुकान में घुसकर हथियार के बल पर 2 लाख रुपए लूट लिए थे। इस वारदात में भी दोनों लुटेरों की तस्वीर सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी।रामकृष्णानगर अाैर रूपसपुर की दाे दवा दुकानाें में इन दोनों अपराधियों ने ही की थी लूटपाट।

दवा खरीदने के बहाने लूटते है

दोनों लुटेरे रात 10 बजे दवा खरीदने के बहाने दुकान में प्रवेश करते है। इसके बाद दुकानदार पर पिस्टल तानकर रकम देने को कहते हैं। दोनों वारदातों में दोनों लुटेरे एक ही कलर का जैकेट पहने हुए हैं। इनमें जो हथियार तान देता है, वह 23 नंबर का जैकेट पहने हुए है। रकम लूटने के बाद बाइक से दोनों फरार हो जाते हैं। हालांकि रूपसपुर में हुई लूट में दावा किया गया था कि पुलिस जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर लेगी पर गिरफ्तारी से पहले फिर रामकृष्णानगर में लूट कर दी। एसएसपी उपेंद्र शर्मा ने दावा किया कि गैंग की पहचान हो गई है।

- Advertisement -

Comments are closed.