BIG न्यूज़ – बिहार में कुल 24 डीएसपी किये गए है लुंजपुंज तरीके से कार्य करने ख़ातिर चिन्हित, 3 पर शुरू हुई विभागीय कार्यवाही

1045

पटना Live डेस्क। बिहार पुलिस मुख्यालय द्वारा विधि व्यवस्था को चुस्त दुरुस्त और प्रभावी बनाने ख़ातिर विगत महिनों से कमजोर कड़ियों को ढूढ़ कर उन्हें चिन्हित करने की कवायद का फलाफ़ल है कि सूबे में तैनात 24 डीएसपी अधिकारियों की पहचान कर ली गई है जो या तो काम नहीं करते हैं या लुंज-पुंज तरीके से काम करते हैं। जिससे विधि-व्यवस्था पर बड़ा असर पड़ता है। इन्ही में शामिल 3 Dysp अधिकारियों पर विभागीय कार्यवाही  शुरु कर दी गई है। इसको लेकर सरकार के तरफ से आदेश भी जारी कर दिया गया है।

गृह विभाग बिहार सरकार के आदेश से विभागीय कार्रवाई शुरु कर दिया गया है। गृह विभाग की ओर से जारी आदेश के मुताबिक मधुबनी डीएसपी कामिनी बाला, कटिहार जिले के सदर डीएसपी अनिल कुमार और समस्तीपुर के पटोरी के विजय कुमार पर विभागीय कार्रवाई का आदेश दे दिया गया है।

डीएसपी कामनी बाला

मधुबनी DSP कामिनी बाला के ऊपर दो मामलों में पर्यवेक्षण में काफी त्रुटियां पायी गयी थी। बाबूबरही थाना के कांड संख्या 75/18 और 85/18 के पर्यवेक्षण में त्रुटियां पाये जाने के कारण यह विभागीय कार्रवाई करने का आदेश दिया गया है। पहले इसको लेकर गृह विभाग ने DSP से जवाब मांगा था पर विभाग जवाब से असंतुष्ट होकर विभागीय कार्यवाही का आदेश दिया गया है। DIG सुरेश प्रसाद चौधरी को संचालन पदाधिकारी और मधुबनी DSP सतीश चंद्र मिश्रा को प्रस्तुतीकरण पदाधिकारी नियुक्त किया गया है।

डीएसपी अनिल कुमार

कटिहार के सदर डीएसपी अनिल कुमार पर पर्यवेक्षण नहीं करने के कारण लंबित कांडों की संख्या का बढ़ना, पोस्ट का निरीक्षण में कोताही, इनके कार्यकाल में इनके पास 23 विभागीय कार्यवाही भेजा गया जिसमें से 11 को ही पूरा कर पाये। विभाग की ओर से जवाब मांगे जाने के बाद जो जवाब दिया गया. उसे विभाग ने अस्वीकृत कर दिया है। DIG भागलपुर सुजीत कुमार को संचालन पदाधिकारी और कटिहार DSP हरि मोहन शुक्ला को प्रस्तुतीकरण पदाधिकारी नियुक्त किया गया है।

एएसपी विजय कुमार

समस्तीपुर के पटोरी के डीएसपी विजय कुमार पर अपने वरीय पदाधिकारी से बेहद उदंडतापूर्ण व्यवहार और अनुशासनहीनता को लेकर कार्रवाई की जा रही है। साथ ही एक हत्या के बाद उपजे बवाल को समय रहते कंट्रोल नहीं करने और इसके बारे में वरीय अधिकारी को समय पर सूचित न करने के कारण इन पर गृह विभाग कार्यवाही करने का आदेश जारी किया। मुजफ्फरपुर के IG गणेश कुमार को इस मामले का संचालन पदाधिकारी नियुक्त किया गया है।

Loading...