बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

Super Exclusive(वीडियो) राजधानी के सबसे बड़े गोशाला में अबतक 27 गायों की मौत सी खुली गौरक्षा अभियान की पोल

8

बृज भूषण कुमार,ब्यूरो प्रमुख, पटनासिटी

पटना Live डेस्क। केंद्र सरकार और सूबे में सरकार की साझीदार भाजपा भले ही गाय की सुरक्षा करने के बड़े बडे दावे करती है पर ज़मीनी हक़ीक़त इसके बिल्कुल उलट है। इसका एक नजारा देखने को मिला है बिहार की सुशासन सरकार के बिलकुल नाक के नीचे,यानी राजधानी पटना के सिटी चौक स्थित किला रोड के श्रीकृष्ण गौशाला में जहाँ गौशाला में पशुओ की समुचित रख रखाव में कमी के कारण अब तक 27 गायो की दर्दनाक मौत हो गई है।
वही,श्री कृष्ण गौशाला में पहुंचे बिहार के पशु विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉक्टर रामेश्वर सिंह और वेटरनरी कॉलेज पटना के प्राचार्य डॉक्टर ने निरक्षण के दौरान गौशाला में रख रखाब में कमी बताया है।चारो ओर गंदगी और गोबर के कारण गाय गंभीर बिमारी से पीड़ित हो रहे है  जब की पटना जिला प्रशासन द्वारा लावारिस गायों को सड़क पर से पकड़कर गौशाला में रखे जाने का आदेश जारी किया गया था और उसके चारा पानी में कमी न होने के बड़े बड़े दावे किए गए थे।


इस कृष्ण गौशाला में अभी तक 200 से अधिक गायों को रखा गया है और उसकी देख भाल की जा रही थी पर रख रखाब में कमी और बेहतर इलाज न होने से यह हाल है। बताया जाता है की अब तक लावारिस गायों की जुलाई 2017 से 29 जनवरी 2018 तक 27 गायों की मौत हो गई हैजबकि कई बार पटना के DM और उसकी टीम ने निरीक्षण किया पर सकारात्मक कदम न उठाये गए।वही वेटरनरी कॉलेज के प्राचार्य ने कहा की मार्च महीने में वेटरनरी कॉलेज के जूनियर डॉक्टर को इस गौशाला में ड्यूटी पर लगाईं जाएगी ,ताकि गायो को बिमारी से बचाया जा सके।

Comments are closed.