बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

मासूम की मौत से खुला राज़ ,घर में एक साथ मौजूद थे 26 सांप,पकड़ने के दौरान मौजूद रहा पूरा गांव

326

पटना Live डेस्क। बिहार के शेखपुरा जिले में एक हृदयविदारक घटना घटित हुई है। यहां एक घर में एक साथ 26 सांप निकलने से हड़कंप मच गया। सांप के डसने से एक मासूम 3 वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। कई घंटे की मशक्कर के बाद एक-एक कर सपेरे ने सभी सांप पकड़े। घटना बिहार के शेखपुरा जिले के अरियरी के जखौर गांव की है।                                                                       घटना सोमवार सुबह की है। किसान मुकेश कुमार अपनी पत्नी के साथ सुबह घर में बेटी को सोता हुआ छोड़कर बाहर गए थे। जब लौटकर आए तो देखा बेटी पंलग पर तड़प रही थी। साथ घर में सांप घूमते हुए दिखे। जैसे-तैसे मुकेश बेटी को लेकर बाहर निकला। लेकिन हॉस्पिटल पहुंचने से पहले ही बच्ची की मौत हो गई।मुकेश ने अपने घर में दर्जनों सापों के डेरा बसा लेने की सूचना गांव के लोगों को दी। देखते ही देखते घर के पास गांव के लोग जुट गए, लेकिन कोई सांप को घर से निकालने की हिम्मत नहीं जुटा रहा था।

सपेरे को बुलाया गया सांप पकड़ने के लिए

मुकेश के घर में डेरा जमाए सांप नाग थे। नाग काफी फुर्तीला और आक्रामक होता है।डर महसूस करते ही नाग हमला कर देता और इसके जहर की कुछ बूंदें इंसान की मौत के लिए काफी होती हैं। सांप को घर से निकालने के लिए मुकेश पास के गांव के सपेरा को बुला लाया। सपेरे के लिए भी इतने सांप पर काबू पाना आसान न था। उसने पहले नाग के बच्चों को पकड़ना शुरू किया। एक के बाद एक वह सांप को पकड़कर मिट्टी के बरतन में डाल रहा था।उसने सांप के 22 बच्चों को तो आसानी से पकड़ लिया लिए पर 4 बड़े सांप को काबू में करने में पसीने छूट गए।

तोड़ दिए सांप के जहरीले दांत

इस दौरान लोग सांप के साथ हुए एक क्रूर घटना के भी गवाह बने। एक नाग ने सपेरे को काफी परेशान कर दिया था।एक हाथ से सांप की पूंछ पकड़ सपेरा गर्दन पकड़ना चाहता था, लेकिन नाग लगातार अटैक कर रहा था। सपेरा काफी देर तक नाग को मिट्टी के बर्तन में रखने की कोशिश करता रहा, लेकिन ऐसा न हुआ।इस बात से परेशान सपेरे ने सांप के थकने पर उसका गर्दन पकड़ लिया फिर सांप की पूंछ को अपने पैर से दबा दिया।एक हाथ से सिर पकड़ सपेरा दूसरे हाथ में लिए हंसिए से सांप के जहर के दांत काटकर अलग करने लगा। उसने 13 बार कोशिश कर सांप के जहर के दांत काटकर अलग कर दिए।

Comments are closed.