बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News (Live वीडियो) पटना पुलिस की फजीहत, 2 लाख की लूट की वारदात में FIR दर्ज करने से पहले सड़क पर भिड़े 2 थानेदार, फ़रियाने लगे सीमा विवाद, देखिए

54

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना समेत पूरे सूबे में अपराधियों ने कोहराम मचा रखा है। बिहार पुलिस ताबड़तोड होती वारदात के आगे बेबस और लाचार नज़र आ रही है। पुलिस को चुस्त दुरुस्त और अपराधियों पर नकेल लगाने की पुलिस मुख्यालय और वरीय पुलिस अधिकारियों की तमाम कवायद निष्फल साबित हो रही है। तो वही दूसरी तरफ पटना पुलिस के कारनामो के लगातार खुलते समाचारों से पूरा महकमा फजीहत झेल रहा है। इसी बीच पटना में 2 लाख रुपये कैशलूट के बाद दो थानेदार बीच सड़क पर सरेआम किये गए तमाशे का वीडियो वायरल हो गया है। दरअसल दोनों थानेदारों के बीच थाने की सीमा को लेकर विवाद हो गया। दोनों थानेदार मामला दर्ज करने के बजाए एक-दूसरे को अपने-अपने इलाके की सीमा रेखा बताने में ज्यादा मुतमइन हो गए और बेचारा अपना 2 लाख रुपया लूट जाने के बाद बेबस शख्स दोनो खाकी वालो के सीमा विवाद फ़रियाने का तमाशा टुकुर टुकुर निहारते रह गया।

दरअसल, पटना जिले के दानापुर थाना क्षेत्र में लखनिबीघा में अपराधियों ने दो लाख रुपये की लूट की वारदात को अंजाम दिया। लुटेरों का शिकार हुए लखनिबीघा निवासी अशोक कुमार खगौल स्थित गाड़ीखाना स्थित बैंक ऑफ इंडिया से 2 लाख रुपये निकाल कर घर लौट रहे थे, तभी अपराधी रुपये से भरा थैला लूटकर फरार हो गए। सरेआम बीच सड़क लूट लिए जाने के बाद बदहवास अशोक कुमार दानापुर थाने में मामल दर्ज कराने पहुचे तो पुलिसवालों ने मामला दर्ज करने से साफ इनकार कर दिया। दानापुर के थानेदार आर के सिन्हा ने खगौल थाना क्षेत्र की घटना बताकर अशोक को खगौल थाना भेज दिया। जब पीड़ित व्यक्ति खगौल थाना पहुंचा तो वहां भी पुलिसवालों ने मामला दर्ज करने के बजाए घटना दानापुर थाना क्षेत्र का बताकर अशोक को टरका दिया।

दोनो थाने के बीच पेंडुलम बना शख्स ने फिर एक बार दानापुर थाने का रुख किया और खगौल थाना के मामला नही दर्ज करने और वारदात स्थल का दानापुर थाना क्षेत्र का होने का कहे जाने की बात पीड़ित व्यक्ति ने दानापुर थानाध्यक्ष को यह बात बताई। फिर क्या था बात निकली तो दूर तलक चली गई और सरेआम बीच सड़क तमाशा हो गया।

पीड़ित को लेकर दानापुर थानेदार घटनास्थल पर पहुंचे और खगौल थानेदार को भी बुलाया गया। फिर तो ग़ज़ब हों गया ,दोनो पीड़ित को छोड़ एक-दूसरे को अपने अपने थाने की सीमा बताने लगे। इधर पीड़ित अशोक कुमार कभी इधर तलब होता कभी उधर तलब होता। वही, 2 थानेदारों की मौजूदगी और वर्दी वालो की उपस्थिति देख आम लोग भी जमा हों गये और पुलिस वालो की धमकचौड़ी का तमाशबीन बन गए। खैर तमाम सीमा और चौहदी समझने कर बाद अंततः पीड़ित का मामला दर्ज हुआ।

सीमा विवाद फ़रियाने के बाद आखिरकार दानापुर थानाध्यक्ष आर के सिन्हा ने कुबूल कर लिया कि वारदात स्थल उनके ही थाना क्षेत्र अंतर्गत पड़ता है। तदुरान्त दानापुर थाना में पीड़ित के बयान पर मामल दर्ज हो सका।

Comments are closed.