बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

एक हफ्ते से गायब है 13 साल की गोल्डी, मूक दर्शक बनी हुई है पुलिस, नहीं ले रही कोई एक्शन

926

डेस्क,लाइव पटना: ‘बिहार में अपराधियों को पुलिस का संरक्षण प्राप्त है’. यह बात विपक्ष का कोई नेता नहीं एक ऐसी महिला कह रही है जिसकी 13 साल की बेटी का अपहरण कर लिया गया और पति भी दूर विदेश में रहता है.

मामला गोपालगंज के गोपालपुर थाना क्षेत्र का है जहां 11 जुलाई को दिन दहाड़े 13 वर्षीय गोल्डी का अपहरण उसी के गांव बड़हरा से कर लिया गया. गोल्डी की माँ सुमन देवी द्वारा FIR भी दर्ज करवाया गया, जिसमें बताया गया है कि कक्षा सातवीं में पढ़ने वाली गोल्डी का अपहरण गांव के ही शाहरुख खान नामक युवक ने किया है। आश्चर्य की बात यह कि FIR दर्ज कराने के बाद भी पुलिस के द्वारा गोल्डी अपहरण मामले में कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है. गोल्डी की मां सुमन देवी ने पुलिस के लापरवाह रवय्ये पर सवाल खड़ा किया है और कहा है कि पुलिस अपहरणकर्ता और उसके परिवार को संरक्षण दे रही है. सुमन कुमारी ने यह भी बताया कि पुलिस के द्वारा अपहरणकर्ता के पिता बाबू जान मियां को गोपालपुर थाने बुलाया गया था. लेकिन उन लोगों को केवल इस शर्त पर छोड़ दिया गया कि 2 दिनों में वह गोल्डी को सही सलामत उसके घर पहुंचा देंगे. लेकिन कई दिन बीत चुके हैं गोल्डी का कोई पता नहीं है और अब अपहरणकर्ता के घर से उसके माता-पिता भी गायब हैं. मामला गंभीर होता जा रहा है, सुमन देवी ने यह भी कहा है कि अगर सांप्रदायिक तनाव फैला तो इसकी जिम्मेदार भी पुलिस होगी, लेकिन गोपालपुर की पुलिस कोई एक्शन नहीं ले रही है.

उधर दुबई में रहकर काम करने वाले गोल्डी के पिता संतोष भगत का भी बुरा हाल है. बेटी के अपहरण की खबर सुन उन्होंने खाना-पीना त्याग दिया है.

एक हफ्ता बीत जाने के बाद भी गोपालपुर थाने की पुलिस मूक दर्शक बनी हुई है. वहीं नाबालिग गोल्डी के परिवार वाले न्याय के इंतजार में आस लगाए बैठे हैं.

Comments are closed.