बेधड़क ...बेलाग....बेबाक

BiG News – Corona के कहर के बीच बिहार में नई आफत, रहस्मय बीमारी से सैकड़ो बकरियों की मौत से मचा हड़कंप

178

- Advertisement -

  • 15 दिनों से जारी है सिलसिला
  • अमूमन हर दिन 3-4 बकरियों की हो रही है मौत
  • वेटनरी डॉक्टरों की टीम पहुची गाँव

पटना Live डेस्क। पूरी दुनिया मे कोरोना का कहर बरपा है इंसानी जिंदगियों पर खतरे के बादल मंडरा रहे है। वही दूसरी तरह भारत भी इस आपदा से लॉकडाउन में है। लेकिन इसी बीच बिहार से मिली एक ख़बर ने सबको खौफ़जदा कर दिया है। दरअसल अब जानवरों पर भी आफत आ गयी है। सूबे के सीतामढ़ी जिले में रहस्मय बीमारी से अचानक सैकड़ों बकरियां मर चुकी है मरना जा रही है। बताया जा रहा है कि बकरियों में सर्दी-बुखार और खांसी के लक्षण मिले हैं। इस जानकारी के बाद वेटनरी मेडिकल टीम ने पूरे मामले की जांच की है।

सीतामढ़ी जिले के सोनबरसा प्रखंड के बिशनपुर गोनाही पंचायत अंतर्गत लोहखर स्थित गांधी टोला में एक माह के अंदर सैकड़ो बकरियां रहस्यमय बीमारी से मर गयी हैं। बकरियों को जमीन में दफनाया जा रहा है। जांच के बाद स्वास्थ्य प्रशिक्षक दया शंकर प्रसाद ने कहा-एक डेढ माह से वहां प्रतिदिन 3 से 6 की संख्या में बकरियां-खस्सी मर रही थी। इन जानवरों में सर्दी,बुखार खांसी के लक्षण पाए गये हैं।

- Advertisement -

डीएम के आदेश पर सिविल सर्जन ने सोनबरसा अस्पताल प्रभारी डॉ राजीव रतन को जांच का निर्देश दिया। मेडिकल टीम गठित कर मामले की जांच करवाई गयी । डॉ अजय कुमार गुंजन ने कहा टीम जब लोहखर के गांधी टोल पहुंची तब एक बकरी मरी पड़ी थी,और ग्रामीणों ने बताया कि एक को दफना कर ग्रामीण आये थे। पहली नजर में देखने पर प्रतीत हुआ कि बकरी के नाक से पानी गिरता है,पेट झड़ता है,सम्भवतः यह निमोनिया का लक्षण हो सकता है। हांलाकि इसकी पूरी पुष्टि नही की जा सकती कि निमोनिया है या नही । जांच टीम के पहुंचते ही ग्रामीणों ने कहा-करीब 15–20 रोज से रोज तीन से पांच बकरियां व खस्सी मर रही है,इससे लोग भयभीत हैं। यह वेटनरी चिकित्सक से जुड़ा मामला है।

- Advertisement -

Comments are closed.