Big Breaking(वीडियो) पटना में अपराधियों का दुःसाहस सरेआम युवक को खदेड़ कर मारी गोलिया, मौत

अजित यादव, ब्यूरो प्रमुख, पटना पश्चिम

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना के फुलवारीशरीफ थाना क्षेत्र में अपराधियों ने दुःसाहस का परिचय देते हुए सरेआम एक युवक को खदेड़कर ताबड़तोड़ 2 गोलिया मार कर मौत के घाट उतार दिया और हत्याकांड को अंजाम देकर आसनी से फरार हो गए। घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय थान समेत एसडीपीओ फुलवारी भी घटना स्थल पर पहुचे और मामले कीतफ्तीश में जुट गए।
मिली जानकारी के अनुसार हथियारबंद 3-4 की संख्या में रहे अपराधियों ने मछली विक्रेता को खदेड कर गोली मार कर मौत के घाट उतार दिया और आराम से भाग निकले। गोलीबारी की आवाज सुनते ही आसपास दुकानो के शटर धड़ाधड़ गिरने लगे और अफरातफरी का माहौल कायम हो गया।

उत्तरीसंग निवासी उषा देवी का 22 वर्षीय बेटा फुलचंद फुलवारी शरीफ के टमटम पडाव पर मां के साथ मछली बेचने का काम करता था। फूलचंद हर दिन की भांति शनिवार की रात तकरीबन नौ बजे के आस पास मछली दुकान बंद कर घर लौट रहा था। इसी दौरान कयास लगाया जा रहा है कि पूर्व से घात लगाए 3 से 4 की संख्या में रहे अपराधियों ने टमटम पडाव के निकट उसे घेरा लिया।अपराधियों द्वारा खुद को घिरता देखकर फुलचंद सरपट भागने लगा। लेकिन दुःसाहसी अपराधियों ने उसको खदेडकर चौराहे पर घेर लिया और फिर सरेआम ताबड़तोड़ 2 गोलिया मार दी और आराम से चलते बने। 2 गोलिया लगने के बाद खून से लतपथ फूलचंद वही सड़क पर ही निढाल हो कर गिर पड़ा।                 गोली की आवाज सुनकर आसपास के दुकानबंद होने लगे और माहौल में अफरातफरी मच गई। इसी बीच किसी ने फूलचंद के परिजनों को घटना की सूचना दे दी। रोते बिलखते मकतूल के परिजन घटना स्थल पर पहूंचे। वही, युवक को गोली लगने की सूचना मिलते ही पुलिस मौका-ए-वारदात पर पहुची और खून से लतपथ मछली विक्रेता को इलाज के लिए पारस हाॅस्पीटल ले गये जहां डाक्टरो ने फूलचंद को मृत घोषित कर दिया।उल्लेखनीय है कि पूर्व में लगभग एक साल पहले भी आधा कट्ठा ज़मीन को लेकर हुए विवाद और रंगदारी की मांगने को लेकर फूलचंद पर अपराधियों द्वारा फायरिंग की गई थी। उक्त हमले में मछली बेच रहे माँ उषा देवी बेटा फूलचंद तो बाल बाल बच गए थे लेकिन एक ग्राहक को पैर में गोली लग गई थी। विदित हो कि इस इलाके में अबतक इससे पूर्व में दो शराब सेल्समैन,एक दर्ज़ी और एक चालक की भी हत्या हो चुकी है।

मारा गया फूलचंद के बड़े भाई का नाम मूलचन्द है और छोटे का राजा नाम बताया जा रहा है। वही घटना स्थल के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाल रही है। वही हत्याकांड के बाबत एसडीपीओ रामाकांत प्रसाद ने बताया कि इस कांड को आपसी विवाद में अंजाम दिया गया है। जल्द ही कांड को अंजाम देने वाले अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वही, मकतूल फूल के बाबत फुलवारी थानाध्यक्ष अजीत कुमार ने बताया कि पता चला है कि मृतक भी अपराधी छवि का था।