बड़े भाई द्वारा बहन का ऑर्केस्ट्रा में डांस कराना गुजरा नागवार तो छोटे भाई ने मरवा डाला

पटना Live डेस्क। 16 नवम्बर को पटना के फुलवारी शरीफ थाना क्षेत्र के अल्वा कॉलोनी में गायक संजय कुमार सागर की बेदर्दी से ईंटो के वार से गले मे रस्सी डालकर और फिर चाकू से गोदकर कर दी गई थी। पटना  पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार करते हुए हत्याकांड की गुत्थी सुलझा लिया है। एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि हत्‍या में इस्‍तेमाल चाकू समेत कई सामान बरामद कर लिए गए हैं। छोटा भाई विजय,सुपारी किलर उपेन्‍द्र पासवान और दोनों को मिलाने का काम करने वाले आकाश कुमार ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है।
पुलिसिया पूछताछ में गायक सागर के भाई विजय ने बताया कि शादीशुदा होने के बावजूद मेरे भाई का अवैध संबंध पुनपुन की रहने वाली एक महिला से था। उसने बताया कि मेरा भाई बहन को आर्केस्ट्रा में डांस कराने के लिए ले जाता था,जो मुझे कतई पसंद नहीं था।इस बात को लेकर दोनों में अक्सर विवाद होते रहता था। समझाने के बवजूद वह मानने को तैयार नहीं था।
गायक संजय कुमार सागर की हत्या की गुत्थी रविवार को पुलिस ने सुलझा ली। हत्याकांड का खुलासा करते हुए एसएसपी मनु महाराज ने बताया कि संजय की हत्या उसके छोटे भाई विजय कुमार ने पेशेवर हत्यारों से कराई थी। पुलिस ने हत्या में शामिल संजय के भाई विजय कुमार, स्टाफ आकाश कुमार और उपेंद्र पासवान को गिरफ्तार कर लिया।


संजय कुमार सागर विवाहित होने के बावजूद पुनपुन की एक महिला से अवैध संबंध था। साथ ही आर्केस्ट्रा में अपनी बहन को डांस के लिए भी ले जाता था। यह छोटे भाई विजय को बिल्कुल भीपसंद नहीं था। दोनों भाईयों में इसे लेकर विवाद बढ़ता गया और विजय ने संजय की हत्या कराने की साजिश रच डाली। अपने फोटो स्टूडियो में काम करने वाले स्टाफ आकाश ने सुपारी किलर उपेंद्र पासवान से मुलाकात कराई।

20 हजार दी भाई को टपकाने की सुपारी

कांट्रैक्ट किलर उपेंद्र से मिलकर विजय ने 20 हजार में भाई के हत्या का सौदा तय किया। हत्या से पहले विजय ने उपेंद्र को एडवांस में छह हजार रुपये भुगतान किए। तीन माह से चल रहे साजिश के तहत संजय सागर को विजय के स्टाफ आकाश ने 16 नवंबर को फोन कर अल्वा कॉलोनी बुलाया। वहा पहले से सुपारी किलर उपेंद्र और संजय का छोटा भाई विजय मौजूद थे।                       भाई को कत्ल करने ख़ातिर भाई लाया था चाकू   अल्वा कॉलोनी पहुंचने पर संजय के सिर पर पीछे से उपेंद्र ने अचानक ईट से प्रहार कर दिया।जब संजय जख्मी होकर गिर गया तो तीनों ने मिलकर ईंट से ताबड़तोड़ के वार करने हुए कुचकर मारने की कोशिश की। इसके बाद नजदीक में पार्क एक टेंपो से रस्सी काटकर संजय के गले में फासी लगाई। फिर संजय की मौत का यकीन न हुआ तो भाई विजय द्वारा लाए गए चाकू से उसकी गला रेतकर निर्मम हत्या कर दी गई।

हत्या में इस्तेमाल चाकू बरामद

एसएसपी ने बताया कि हत्या में इस्तेमाल चाकू समेत अन्य सामान बरामद कर लिए गए हैं। छोटा भाई विजय,सुपारी किलर उपेंद्र पासवान और दोनों को मिलाने का काम करने वाले आकाश कुमार ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। सुपारी किलर उपेंद्र के पिता रानीपुर में मंगरू पासवान है जो अपराध जगत का एक बड़ा नाम बताया जाता है।

17 नवंबर को अल्वा कॉलोनी के एक खाली पड़े प्लॉट की चारदीवारी से परसा निवासी भरत रविदास के पुत्र गायक संजय कुमार सागर का शव पुलिस ने बरामद किया था। युवक की गला रेतकर हत्या की गई थी। मृतक के परिजन पहले तो हत्या का कारण अवैध संबंध बता रहे थे।गायक संजय का भाई विजय हत्या का कारण अवैध संबंध बताकर पुलिस को भटकाने का भरसक प्रयास करता रहा। पुलिस द्वारा पूछताछ के लिए बुलाए जाने पर विजय के कई बार टालमटोल करने लगगा और फिर अचानक सड़क दुर्घटना का शिकार बताकर अस्पताल में भर्ती हो गया। फिर भी जब पुलिस पहुच गई तो विजय ने यादाश्त खोने का ड्रामा करने लगा। पुलिस को उसके शक हुआ और तकनीकी व वैज्ञानिक जाच के साथ जब सख्ती बरती गई तो विजय अपने बड़े भाई की सुपारी देने की बात कबूल करते हुए हत्या में शामिल आकाश और उपेंद्र के नाम का खुलासा किया।