‘पर्वत योग’ से लंबाई बढ़ायें, साथ टेंशन भी घटायें

0
25

पटना Live डेस्क। बिहार में एक ओर जहाँ लोग हेल्थ की कई समस्याओं से जूझने के कारण काफी परेशान है तो दूसरी ओर कई लोग अपने छोटे हाइट से परेशान है। कई लोगों को अपने बच्चों के हाइट न बढ़ने का डर भी सताता है। तो आपको आपकी हेल्थ से जुड़ी अनेक समस्याओं से और कई चिंताओं से निजात दिलाने के लिए आज पेश है एक बेहद ही आसान और सटीक उपाय जो आपके लिए सबसे मददगार साबित होगा और वह उपाय है सबसे बेस्ट योग, “पर्वत योग”। पर्वत योग खड़े होकर करने वाले योग में एक महत्वपूर्ण योगाभ्यास है, जिससे कई समस्याओं से निजात मिल जाती है। पर्वत योग ज़्यादातर ‘ताड़ासन योग’ के नाम से प्रचलित है। पर्वत योग के सिर्फ एक या दो फ़ायदे नहीं बल्कि कई फ़ायदे हैं।

जानें क्या क्या है पर्वत योग के फ़ायदे ?

अगर नियमित रूप से पर्वत योग किया जाये तो बच्चों की लंबाई बढ़ती है क्योंकि इस योग को करने से पुरे शरीर में खिचाव महसूस होती है। पर्वत योग शरीर के कई हिस्सों से अतिरिक्त वसा को पिघला वजन घटाने के लिए भी फायदेमंद है। यह घुटने में दर्द, पैरों में सूजन, दर्द, सुन्न, झनझनाहट, एड़ी की दर्द, पीठ दर्द या रीढ़ की हड्डी की कोई भी समस्या, नसों की कमजोरी, दर्द और दुर्बलता को दूर करने के लिए सटीक उपाय है। एकाग्रता बढ़ाने के लिए भी पर्वत योग बेहद लाभदायक है। अगर आपको लोग आपकी चाल के लिए टोकते है, हँसते है और कहते है की आपको चलना नहीं आता तो इधर उधर ध्यान दिए बगैर इस आसान से योग को नियमित रूप से करें, आपकी चाल सही हो जाएगी।


पर्वत योग करने का सही तरीका :

1. सबसे पहले आप जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं।


2. अपने हाथों को सीधे खींचते हुए सिर के उपर ले जायें और दोनों हाथो के उंगलियों को एक दूसरे उंगलियों के गैप को भरें लें ( दोनों हाथो के उंगलियों को इंटरलॉक कर लें )।


3. अब सांस अंदर लेते हुए धीरे धीरे अपनी एड़ी को उठायें और पैरों की उंगलियों पर अपने बॉडी का भार देते हुए, अपने आप को उपर की ओर खींचें। ऐसा करने से आप पैर की उंगलियों से लेकर हाथ की उंगलियों तक खिंचाव सा महसूस करेंगे। शुरू में इस आसन को 10 सेकंड तक के लिए धारण करने की कोशिश करें, फिर आप धीरे धीरे अपने कंफर्ट के हिसाब से टाइम बढ़ा लें।


4. इसके बाद आप धीरे धीरे सांस को बाहर की ओर छोड़ते हुए एड़ी को निचे ले आये और नॉर्मली सीधे खड़े होने की स्थिति में आ जायें।
यह पूरा स्टेप एक चक्र है । आप कम से कम पांच चक्र के साथ शुरू करे, कुछ समय बाद इसे दस चक्र तक करें।


इन बातों का रखें ध्यान :

1. गर्भवती महिलाऐं कृपया पर्वत योग को न करें।
2. जिन लोगों को काफी चक्कर आता है या जो लंबे समय से सिर दर्द, अनिद्रा और लो ब्लड प्रेशर से ग्रसित है वे लोग इस योग को न करें।
3. अगर आपकी कोई भी समस्या काफी समय से आपके हेल्थ पर असर डाल रहा है तो इस योग को करने से पहले आप अपने विशेषज्ञ से राय जरूर ले लें।

Loading...