दरभंगा: तेजस्वी यादव सहित दो लोगों के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज

31

पटना Live डेस्क. पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव मुश्किलों में घिरते नजर आ रहे हैं. दरभंगा कोर्ट में तेजस्वी समेत दो लोगों पर वंदे मातरम के अपमान को लेकर स्थानीय अदालत में एक परिवाद दायर किया गया है. इन दोनों पर भारतीयों व भारतीयता का मज़ाक उड़ाने का भी आरोप है. इन दोनों के खिलाफ राष्ट्रद्रोह की धारा 124 (A), 120 (B) भा. दण्ड विधान, 501 (B) भारतीय दण्ड विधान, प्रिवेंशन ऑफ इंसल्ट टू नेशनल ऑनर एक्ट 69 (1971) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. जदयू तकनीकी प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष इकबाल अंसारी ने सीजीएम की कोर्ट में दायर अपनी याचिका में कहा है कि 13 अगस्त 17 को तेजस्वी यादव ने एक विवादित ट्वीट कर राष्ट्र गान का अपमान किया है. याचिका में कहा गया है कि उमाशंकर सिंह नामक एक व्यक्ति के ट्वीट “बन्दे मारते हैं हम” के लिंक को अपने ट्विटर एकाउंट में शामिल करते हुए तेजस्वी यादव ने इस ट्वीट का न केवल समर्थन किया बल्कि ट्वीट कर कहा कि “सही कहा इनका “वंदे मातरम्” = बंदे मारते हैं हम”. परिवाद पत्र में तेजस्वी यादव व उमाशंकर सिंह को अभियुक्त बनाया गया है.

इस प्रकार के ट्वीट से राष्ट्रप्रेमियों को गहरा दुःख हुआ एवं ट्विटर पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. एक पूर्व उपमुख्यमंत्री के ऐसे राष्ट्रविरोधी ट्वीट से यह बात साबित हो जाती है कि इनको अपना राजनीतिक स्वार्थ साधने के लिए न तो  राष्ट्र के सम्मान की चिंता है और न ही राष्ट्र की छवि की. अंसारी ने अपनी याचिका में कहा है कि इस ट्वीट की इतनी आलोचना होने के बावजूद तेजस्वी ने अपने ट्वीट पर माफी नही मांगी. तब अंत में न्यायालय का सहारा लेना पड़ा.