तो क्या ? लालू यादव को थी जानकारी – सीबीआई की छापेमारी होगी

20

पटना Live डेस्क। राजद सुप्रीमो लालू यादव को इस बात की भनक मिल गई थी कि जल्द ही सीबीआई का दस्ता उनके 10 सर्कुलर रोड स्थित सरकारी निवास पर पहुचने वाला है।उधर यह खबर भी पक्की है कि पीएमओ ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लालू प्रसाद के आवास पर छापेमारी की पूर्व सूचना दे दी थी। ऐसा इसलिए किया था की ताकि सूबे में कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने ना पाये। इसी सूचना के बाद पुलिस ने राजधानी के तमाम पार्टियों के दफ्तरों पर पुलिस का पहरा बिठा रखा था।

वही दूसरी तरफ लालू प्रसाद को भी इस छापेमारी की पूर्व से सूचना थी। इस बात का खुलासा तब हुआ जब लालू पत्रकारों से बात करते हुए बोले कि “सीबीआई ऊपर के आदेश का पालन कर रही थी। उन्होंने कहा कि मैने तेजस्वी से कह दिया था कि जब सीबीआई वाले आयें तो उन्हें उनकी गाड़ियों समेत परिसर में बुला लेना। उन्हें पूर्ण सहयोग करना और जब वे वापस जाने लगें तो परिसर से ही उन्हें गाड़ियों में बिठा कर भेजना ताकि उनकी सुरक्षा सुनिश्चित हो सके।सियासी चैंपियन लालू को आशंका थी छापेमारी की बात सुनकर राजद समर्थकों का हुजूम
उनके आवास के बाहर इकट्ठा होगा, जो सीबीआई के लोगों की सुरक्षा चुनौती बन सकती है। लिहाजा अपने पिताजी की बात के अनुसार तेजस्वी ने ऐसा ही किया।
सुबह सात बजे सीबीआई की टीम सर्च के लिए आयी तो उन्हें गाड़ियों समेत परिसर में एंट्री दी गई। साथ हो जब शाम सात बजे जब सीबीआई का दस्ता वापस होने लगे तो उन्हें परिसर के अंदर से ही गाड़ियों में बिठा कर भेजा गया।


वही इस बात के अलावे भी एक पक्ष का तर्क है कि ये तमाम कवायद छापेमारी के सच को मीडिया से दूर रखने के लिए किया गया साथ ही लालू जैसे घाघ राजनीतिज्ञ अब छापेमारी को भी अपनी धमका को बचाने के लिए जुमलेबाजी कर रहे है।