(वीडियो)लालू ,राबड़ी और बेटे उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव समेत कुल 8 पर सीबीआई ने दर्ज की एफआईआर, पटना आवास पर छापेमारी जारी,

पटना Live डेस्क। राजद सुप्रीमो लालू यादव की मुसीबतें कम होने के नाम ही नही ले रही है। बेनामी संपत्ति मामले में घिरे लालू और उनके परिवार के खिलाफ शुक्रवार को सीबीआई ने भ्रष्टाचार का एक नया केस दर्ज किया है। लालू के खिलाफ आरोप है कि उन्होंने रेल मंत्री रहने के दौरान एक निजी कंपनी को फायदा पहुंचाया। सीबीआई ने उनकी पत्नी राबड़ी देवी बेटे बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव सहित 8 लोगों पर केस दर्ज किया है। इस सिलसिले में 12 ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी की गई है।

यह मामला साल 2006 का है,जब लालू प्रसाद यादव केंद्रीय रेल मंत्री थे। सूत्रों ने बताया कि साल 2006 में रांची और पुरी के बीएनआर होटलों के विकास,रखरखाव और संचालन के लिए टेंडर में कथित अनियमितता पाए जाने के संबंध में यह एफआईआर दर्ज की गई है। ये टेंडर निजी सुजाता होटल्स को दिए गए थे। बीएनआर होटल रेलवे के हैरिटेज होटल हैं, जिन्हें उसी साल IRCTC ने अपने नियंत्रण में ले लिया था। केस दर्ज किए जाने के बाद दिल्ली, पटना, रांची, पुरी और गुरुग्राम सहित 12 स्थानों पर छापेमारी की गई है।
सीबीआई सूत्रों ने बताया कि तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव, उनकी पत्नी और बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी, बिहार के उपमुख्यमंत्री और उनके बेटे तेजस्वी यादव, IRCTC के तत्कालीन एमडी पी.के. गोयल, यादव के विश्वासपात्र राज्यसभा सांसद प्रेमचंद गुप्ता की पत्नी सुजाता और अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। बता दें कि गुप्ता कॉर्पोरेट मामलों के पूर्व केंद्रीय मंत्री हैं।


लालू के खिलाफ दर्ज हुए ताजा मामले को लेकर आरजेडी प्रवक्ता मनोज झा ने कहा कि यह लोकतंत्र के लिए सबसे काला दिन है। उन्होंने कहा, ‘हम झुकेंगे नहीं, हम इसके खिलाफ कानूनी और राजनीतिक लड़ाई लडेंगे।’ उधर बीजेपी ने इसे कानूनी प्रक्रिया बताते हुए नीतीश पर फिर सवाल उठाए हैं। केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने कहा, ‘कानून अपना काम कर रहा है। अब नीतीश मूक दर्शक बने नहीं रह सकते। अब उन्हें बोलना ही होगा और अपना स्टैंड साफ करना होगा।’
बता दें कि लालू यादव और उनका परिवार बेनामी संपत्ति मामले को लेकर भी घिरे हुए हैं। उनके परिवार पर अपने प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए बेनामी संपत्ति अर्जित करने का आरोप है। हाल ही में इनकम टैक्स विभाग ने इस सिलसिले में 12 बेनामी संपत्तियों को अटैच किया है। इस मामले में उनकी बेटी मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार पर भी आरोप लग रहे हैं। हालांकि यादव परिवार ने इन आरोपों को उनके खिलाफ सियासी साजिश बताया है।