लालू यादव का ट्वीट के जरिये नीतीश कुमार पर पलटवार, ताबड़तोड़ हमला दागे कई सवाल,”थीसिस चोर” मुख्यमंत्री तक कह डाला

पटना Live डेस्क। बिहार की सियासत में जदयू,राजद और कॉंग्रेस महागठबन्धन के टूटने और नीतीश कुमार का भाजपा संग सरकार बना कर पुनः मुख्यमंत्री बन जाने के बाद से राजद और जदयू के बीच एक दूसरे के खिलाफ बयानबाजी में रोज़ ब रोज तुर्शी आक्रमकता बढ़ती ही जा रही है। कोई ऐसा दिन नही होता जब दोनों पक्षो द्वारा एक दूसरे के खिलाफ तीखे शब्द भरे आरोप प्रत्यारोपो का सिलसिला मीडिया की सुर्खियां न बनता हो। इसी कड़ी लालु की सुरक्षा में कटौती के बाद मंगलवार से सोशल मीडिया के माध्यम से नीतीश और लालू एक दूसरे पर कटाक्ष करते नज़र आये।
अमूमन नीली चिड़िया के माध्यम से ज्यादा सरोकार न रखने वाले नीतीश कुमार ने मंगलवार को लालू की सुरक्षा में कटौती को लेकर उपजे विवाद को लेकर ट्वीट करके लालू पर निशाना साधाते हुुुए उन्होंने लिखा था,राज्य सरकार द्वारा जेड प्लस और एसएसजी की मिली हुई सुरक्षा के बावजूद केंद्र सरकार से एनएसजी और सीआरपीएफ के सैकड़ों सुरक्षा कर्मियों की उपलब्धता के जरिए लोगों पर रौब गांठने की मानसिकता, साहसी व्यक्तित्व का परिचायक हैं।


वही बुधवार को भी नीतीश कुमार ने  ट्वीट के जरिए लालू प्रसाद को उनकी बेनामी संपत्ति मामले में घेरने की कोशिश की थी नीतीश कुमार ने बिना किसी का नाम लिए ट्वीट में लिखा था, ‘जान की चिंता, माल की चिंता सबसे बड़ी देशभक्ति है।


फिर, क्या था बुधवार नीतीश कुमार के ट्वीट करने के बाद पलटवार करते हुए राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद ने बिना नाम लिए ट्वीट के जरिये बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सीधे सीधे निशाना साधते हुए ताबड़तोड़ हमला बोला है। लालू ने लगातार ट्वीट कर नीतीश कुमार पर कई सवाल दागे है। इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लालू यादव का नाम लिए बिना पूछा देशभक्ति के आड़ में लोगों को माल और मॉल की चिंता हैं तो उसके बाद लालू यादव कहां शांत रहने वाले थे। नीतीश के एक ट्वीट के बदले उन्होंने जवाब में पांच ट्वीट लगातार कर डाले।
लालू यादव ने अपने एक ट्वीट में कहा कि बिहार में देश का एकलौता ऐसा स्वयं घोषित देशभक्त मुख्यमंत्री हैं। जिसपर हत्या का जघन्य आरोप हैं। लालू यही नही रुके बल्कि फिर पूछा कि क्या देश के किसी और मुख्यमंत्री पर हत्या का मामला और उस मामले को छुपाने का साहस हैं।

एक बार लालू ने ट्वीट से नीतीश पर सवालो के बौछार की जो शुरुआत की तो फिर यही नहीं रुके इसके बाद उन्होंने सवाल किया कि किस देशभक्त मुख्यमंत्री पर थेसिस चोरी करने का आरोप लगा और ‘थीसिसि चोर’ मुख्यमंत्री यह बताए कि उन्होंने आखिर 20 हजार का जुर्माना नकद या चेक में दिया ?
कुछ देर रुकने के बाद लालू द्वारा पुनः ने एक ट्वीट किया।जिसमें भी लालू ने नीतीश पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधा और लिखा, क्या आप ‘पेट के दांत’ ठीक करने वाले किसी डेंटिस्ट को जानते हैं? बिहार में जनादेश का एक मर्डरर है, जिसके पेट में दांत है। उसने सभी नेताओं और पार्टियों को ही नहीं बल्कि करोड़ों गरीब-गुरबों को भी अपने विषदंत से काटा है।       
बिहार के चैंपियन सियासतदानों की नीली चिड़िया पॉर एक दूसरे पर जमकर निशाना साधने की इस जबरदस्त शैली को लेकर सोशल मीडिया पर भी समर्थकों के बीच जमकर शाब्दिक लड़ाई जारी है। दोनों के समर्थक जमकर एक दूसरे की बखिया उधेड़ रहे है।