बडी ख़बर- बिहार में नक्सलियों ने ट्रेन का किया अपहरण, 6 घंटे रहा परिचालन ठप्प, मोबाइल टॉवर उड़ाया, कोबरा और नक्सलियों में भिड़ंत के बाद परिचालन सामान्य

45

पटना Live डेस्क।बिहार में नक्सलियों ने बीती रात तांडव मचा दिया। नक्सलियों के प्रवेश दा ग्रुप के 50 से ज्यादा की संख्या में रहे हथियारबंद दस्ते ने जमुई के भलुई हाल्ट के रेल फाटक नंबर 48D के गेटमैन का अपहरण करते हुए तकरीबन 11 बजकर 32 मिनट पर ट्रेन संख्या 13288 दानापुर दुर्ग एक्सप्रेस पर कब्जा करते हुए ट्रेन को बंधक बना लिया।घटना के समय ट्रेन में करीब डेढ़ हजार लोग सवार थे।ट्रेन को हाल्ट पर लाल सिग्नल कर रोका गया और फिर रेल पटरियों के दोनों तरफ मौजूद नक्सलियों ने ट्रेन पर धावा बोलते हुए ट्रेन को कब्जे में कर लिया। इस दौरान उन्होंने यात्रियों को चुपचाप रहने की हिदायत देते हुए उन्हें कोई नुकसान न पहुंचाए जाने की बात कही।भलुई हाल्ट पर साढ़े ग्यारह बजे ट्रेन को कब्जे में लेने के बाद तकरीबन ढाई बजे नक्सलियों ने ट्रेन को मुक्त किया।


इस दौरान नक्सलियों के अन्य दस्ते द्वारा भलुई-मानपुर के रास्ते मे एक मोबाइल टावर को भी उड़ा दिया। नक्सलियों द्वारा जानबूझकर इस घटना को अंजाम दिया गया ताकि घटना के बाद सीआरपीएफ कोबरा टीम और पुलिस के जवान जब हमले की सूचना पर उनकी तलाश में आएंगे तो सुरक्षाबलों को घेर कर ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुचाया जा सके। इसी योजना को अंजाम देने ख़ातिर नक्सलियों द्वारा कई स्थानों पर लैंडमाइंस और विस्फोटक लगाया गया था। सुरक्षा बलों के आने के रास्तों पर एम्बुश लगाए गए थे।

वही इस घटना की जानकारी मिलते ही किउल-झाझा रेलखंड पर ट्रेन परिचालन रोक दिया गया। जमुई- किउल-जमुई रेलखंड पर ट्रेनों का परिचालन ठप है। 13288 साउथ बिहार एक्स भलुई स्टेशन पर खड़ी रही, वही राजेंद्र नगर हाड़वा एक्स मानपुर में खड़ी रही। इधर रेल पुलिस द्वारा ट्रैक की सघन जांच में जुट गई।

 वही दूसरी तरफ ट्रेन पर नक्सलियों के कब्जे और गेट मैन के अपहरण की सूचना और फिर सीआरपीएफ के अपने इनपुट्स पर मिली जानकारी के अनुसार नक्सलियों के प्रवेश दा दस्ते द्वारा किये गए इस हमले के बाबत जानकारी इकट्ठा कर सुबह 3 बजे कोबरा की 207 बटालियन की 5 टीमें नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन ख़ातिर घटनास्थल के लिए रवाना हुई।कोबरा की टीम जब घटनास्थल की ओर जा रही थी, तभी नक्सलियों द्वारा घात लगाकर गोपालपुर गांव और जितेंद्र हाल्ट के बीच जबरदस्त फायरिंग की गई। अचानक हुई इस ताबड़तोड़ फायरिंग का जवाब देने के लिए कोबरा के बहादुर जवानों ने भी मोर्चा संभालते हुए नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब दिया। कोबरा जवानों की जवाबी कार्रवाही से नक्सलियों का जल्द ही पाँव उखड़ गए और वो भाग निकले। वही कोबरा जवानों द्वारा पूरे इलाके में सर्च अभियान चलाया जा रहा है।
वही इस भिड़ंत में किसी भी नक्सली के मारे जाने की अभी तक पुष्टी नही हुई है। वही अब रेल परिचालन भी शुरू हो चुका है। साथ ही नक्सलियों के कब्जे से मुक्त होकर दानापुर-दुर्ग एक्सप्रेस भी रवाना हो चुकी है।