लंदन से नीमच और फिर सन्यासी बनाने तक का सफर – करोड़ों की संपत्ति और 3 साल की मासूम बेटी को छोड़, 23 सितंबर को संन्यास ले रहे बड़े बिजनेसमैन दंपत्ति

97

पटना Live डेस्क।कहते है जब वो आवाज़ देता है दुनिया बेमानी और फानी हो जाता है। ईश्वर से जब नेह जुड़ता है तो दुनिया बेमानी लगने लगती है। तारीख़े गवाह है जैसे ही इंसान को यह ज्ञात हुआ कि -संसार माया है दुनिया फानी है सत्य सिर्फ ईश्वर है, उसने तख्तों ताज और दुनिया की तमाम सलाहियत और भौतिकता का  एक झटके में अलविदा कह दिया है। इसी कड़ी में एक और बेहद पैसे वाले जोड़ो का नाम जुड़ने जा रहा है।
ईश्वर की भक्ति और सुमार्ग ख़ातिर मध्य प्रदेश के नीमच में एक पति-पत्नी ने अपनी तीन साल की बेटी और 100 करोड़ की सपंत्ति को छोड़कर संन्यासी बनने का फैसला किया है। इस बात की चर्चा पूरे देश में हो रही है। यह पहला मामला है जब कोई दंपत्ति अपनी संपत्ति और मासूम बेटी को छोड़कर संन्यास लेने जा रहे हैं। मध्य प्रदेश में एक दंपत्ति ने अपनी तीन साल की बेटी और 100 करोड़ की सपंत्ति को छोड़कर संन्यासी बनने का फैसला किया है।

करोड़ों की संपत्ति को छोड़ लेने पहुंचे संन्यास

संन्यास लेने वाले दंपत्ति अनामिका और उनके पति सुमित राठौर नीमच शहर के एक बिजनेस परिवार से ताल्लुक रखते हैं मीडिया खबरों के अनुसार, दोनों की शादी 4 साल पहले हुई थी। और उनकी 3 साल की एक बेटी इभ्या भी है। लेकिन इन सबके बाद भी पति-पत्नी ने मोह-माया त्याग कर संन्यासी जीवन जीने का फैसला किया है।

करोड़ों का है कंपनी का टर्नओवर

परिवार वालों के अनुसार, दोनों को परिवार के सभी सदस्यों ने खूब समझाया लेकिन दोनों अपने फैसले पर टिके रहे और दीक्षा के लिए रवाना हो गए हैं। खबरों के अनुसार,सुमित राठौर लंदन से एक्सपोर्ट-इंपोर्ट में डिप्लोमाधारी है। दो साल लंदन में जॉब करने के बाद नीमच लौटे और फिर अपना कारोबार को संभाला। 10 करोड़ की फैक्ट्री में लगभग 100 कर्मचारी काम करते हैं।
वहीं अनामिका ने भी 10वीं और 12वीं में राजस्थान बोर्ड में टॉप करने के बाद इंजीनियरिंग की डिग्री ली थी।हिंदुस्तान जिंक में 8-10 लाख के सालाना पैकेज पर नौकरी से शुरुआत की। साल 2012 में शादी के बाद नौकरी छोड़ दी अब पति सुमित के साथ दीक्षा लेने के लिए रवाना हो गई हैं।

है करोड़ों की संपत्त‍ि

-छावनी के महाराजा अजमीढ चौराहा स्थित 1.26 लाख वर्ग फीट में फैला राठौर मांगलिक परिसर

– नीमच-सिंगोली रोड पर मालखेड़ा के पूर्व सीमेंट के कट्टे तैयार करने की बड़ी फैक्टरी. करोड़ों के कारोबार वाली इस फैक्टरी में करीब 80 कर्मचारी काम करते हैं.

– नीमच सिटी मेन रोड पर विशाल और आलीशान पैतृक मकान.

– नीमच सिटी क्षेत्र के नजदीकी क्षेत्र में करीब 100 बीघा से ज्यादा कृषि भूमि.

3 साल की मासूम के बाबत कहा 

तीन साल की अपनी मासूम बेटी को छोड़कर सन्यास लेने के बाद अब दम्पति के फैसले के बाद लोग बच्ची की परवरिश पर तरह तरह के सवाल उठा रहे हैं। लेकिन इन सवालों से भी उनका मन नही बदला और उन्होंने जो जवाब दिया वो उनके सन्यासी मन की दृढ़ता को भी बयान करता है।उनका जवाब भी बेहद स्पष्ट और साफ है — जिसपर दंपत्ति का कहना है कि जिनके मां-बाप नहीं होते उनके बच्चों की भी परिवार में परवरिश होती है।