बड़ी खबर – पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर के साथ The Lie Lama लिखा पोस्टर हुआ सोशल मीडिया पर वायरल, वही दिल्ली में दीवारों पर लगे PM मोदी के पोस्टर, लिखा- ‘द लाई लामा’

300

पटना Live डेस्क। पीएम नरेंद्र मोदी का एक पोस्टर सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल पोस्टर में पीएम मोदी को झूठ का प्रधान बताया गया है। दरअसल पिछले 24 घंटे से प्रधानमंत्री की ‘THE LIE LAMA’ लिखी तस्वीर सोशल मीडिया के अलग-अलग प्लेटफॉर्म में शेयर की जा रही है।
देश की राजधानी नई दिल्ली में  गुरुवार 10 मई, 2018 के दिन राजधानी दिल्ली के बिड़ला मंदिर, मंदिर मार्ग, नानक प्याऊ, मोती नगर, मॉडल टाउन के अलावा एनडीएमसी में कई स्थानों पर चिपकाया गया है। पोस्टर्स किसने लगाए हैं इसकी जानकारी नहीं है। पोस्टर्स पर प्रकाशक या छपवाने वाले का नाम भी नहीं लिखा गया है।
मामले में भाजपा के प्रदेश महामंत्री कुलजीत चहल ने कहा है कि पीएम मोदी की जबरदस्त लोकप्रियता से परेशान होकर यह पोस्टर्स लगाए गए हैं। हालांकि भाजपा नेता ने यह भी कहा कि पार्टी इस मामले में शुक्रवार यानी आज के दिन कोई फैसला लेकर केस दर्ज करवा सकती है। वहीं पुलिस का कहना है कि पोस्टर्स सरकारी दीवार लगाए गए हैं और यह उसकी सुंदरता और सफाई खराब करते हैं। इसलिए अज्ञात लोगों के खिलाफ संबंधित धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।अब इस पोस्टर को लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर को लेकर बखेड़ा खड़ा हो गया। दरअसल, यहां विभिन्न जगहों पर पीएम मोदी की तस्वीर चस्पा की गई है, जिस पर लिखा है कि ‘द लाई लामा’ (The Lie Lama)।
इन पोस्टर को लेकर बीजेपी ने विरोध जताया है। बीजेपी नेताओं ने गुरुवार रात में दिल्ली पुलिस से शिकायत की, जिसके बाद पुलिस ने एफआईआई दर्ज कर ली है। ये पोस्टर सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रहा है।गुरुवार रात पुलिस ने मंदिर मार्ग इलाके में जे-ब्लॉक से पीएम मोदी का ऐसा ही एक पोस्टर जब्त किया। इसके बाद पुलिस ने संपत्ति बदरंग कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया।ये पोस्टर एनडीएमसी क्षेत्र के अलावा विभिन्न इलाकों में दीवारों पर देखे गए हैं।पुलिस ने बताया कि पोस्टर पर किसी प्रेस या प्रिंटिंग एजेंसी का नाम-पता नहीं है, पोस्टर को सरकारी दीवार पर लगाकर उसकी सुंदरता व सफाई को खराब किया गया, इसलिए अज्ञात लोगों के खिलाफ डिफेसमेंट एक्ट (संपत्ति बदरंग कानून) के तहत केस दर्ज किया गया है।इस संबंध में पुलिस आसपास के सीसीटीवी फुटेज देख रही है ताकि कोई सुराग मिल जाए। पुलिस पोस्टर लगाने वालों का पता लगाने की कोशिश में है।