बड़ी खबर – (वीडियो) जोकीहाट उपचुनाव रैली  में तेजस्वी की दहाड़ -हम शेर है, भाजपाई गीदड़ भभकी से डरने वाले नहीं

पटना Live डेस्क। ज्यो ज्यो जोकीहाट उपचुनाव के वोटिंग के दिन नज़दीक आ रहे है। चुनाव प्रचार में जुटे नेताओ के बयान में जबरदस्त तुर्शी देखने को मिल रही है। इसी कड़ी में नेता विरोधी दल तेजस्वी प्रसाद यादव 25 और 26 मई को दो दिन यहां डेरा डाल कर वोट जुटाने की मुहिम में भीड़ गए है।  बिहार राजद अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे अपनी टीम के साथ डोर-टू-डोर जनसंपर्क कर रहे हैं  इस सीट पर पूर्व मंत्री तस्लीमुद्दीन के बेटे शहनवाज राजद ही नहीं महागठबंधन के प्रत्याशी हैं. अररिया विधानसभा सीट सरफराज आलम के सांसद बनने के बाद खाली हुई है।सरफराज आलम जदयू से विधायक थे,लेकिन पिता की मौत के बाद राजद में शामिल होकर सांसद का चुनाव जीत गये थे. उनके द्वारा रिक्त की गयी सीट पर छोटे भाई शहनवाज महागठबंधन के प्रत्याशी हैं।
जोकीहाट उपचुनाव के लिए चुनावी रैली को संबोधित करने अररिया पहुंचे  तेजस्वी यादव ने बिहार के सीएम नीतीश कुमार और भाजपा पर जमकर निशाना साधा। तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार में एक भी ऐसी पार्टी नहीं छोड़ी जिससे गठबंधन नहीं किया हो। वो विकास नहीं, जनादेश का अपमान कर विनाश करते हैं।
नीतीश कुमार केवल मुखौटा हैं, बिहार में असल राज तो मोहन भागवत और नरेंद्र मोदी कर रहे है और नीतीश कुमार में इतनी औक़ात नहीं कि वो भाजपा की आंख में आंख डाल कर बात कर सकें। लालू जी ने आडवाणी सरीखे नेता को गिरफ़्तार कर जेल में डाल दिया था,लेकिन नीतीश कुमार तांडव मचा रहे एक नौसीखिए भाजपा नेता को अरेस्ट नहीं कर सके।उसने स्वेच्छा से आत्मसमर्पण किया।
तेजस्वी ने कहा कि जोकीहाट उपचुनाव के बाद नीतीश कुमार ऐसे कप्तान रह जाएंगे जिनकी प्लेइंग इलेवन में भी जगह नहीं बचेगी। भाजपाई जब हारने लगते है तो उन्हें पाकिस्तान याद आने लगता है। हम शेर हैं,भाजपाई गीदड़ भभकी से डरने वाले नहीं है।

उन्होंने कहा कि आरसीपी सिंह नीतीश कुमार के टैक्स कलेक्टर हैं। बिहार का सारा टैक्स वही कलेक्ट करते हैं। यहां भी बोरा भरकर बैठे हैं। कर्नाटक में मुझे लोग बताने लगे कि भाजपाइयों की बोली में हमारे यहां एक भी विधायक नहीं बिक सका, लेकिन आपके बिहार में तो मुख्यमंत्री ही बिक गया। भाजपा ने एससी-एसटी क़ानून ख़त्म कर दिया। देश नागपुरिया क़ानून से नहीं, बल्कि बाबा साहेब के संविधान से चलेगा। हम देश के लिए खड़े है। लोकतंत्र के लिए खड़े है।

अपने भाषण को समाप्त करने के दौरान तेजस्वी ने रैली में मौजूद जनता से शाहनवाज को जिताने खातिर न केवल अपील की बल्कि ये कहा कि मैं आश्वस्त रहू न कि आप इन्हें जिताएंगे। इसपर मौजूद लोगों ने केवल जमकर तालिया बजाई बल्कि कहा बिल्कुल 31 को फैसला हो जायेगा।