नीतीश जी पूत के पाँव पालने में ही दिख जाते है,ये तो महज अंगड़ाई है  बोले राजद युवा नेता सचिन अहीर 

0
15

पटना Live डेस्क।बिहार की सियासत में राजग के सियासी सूरमाओं द्वारा बच्चा कहकर जबरिया नकारने की कोशिश को धता बताते हुए उपचुनाव में दलीय उम्मीदवारों को जबरदस्त जीत दिलाने वाले तेजस्वी यादव की योग्यता और सियासी हुनर अब सियासी बिन पेंदी के लोटा पलटी बाज नीतीश कुमार जी को सपने में भी स्मरण रहेगा ये कहना है राजद के स्टेट सेक्रेटरी सचिन अहीर का।

अपनी बातों को विस्तार देते हुए सचिन कहते है पूत के पाव पालने में ही दिख जाते है पर मुख्यमंत्री जी आँखे बंद किये बैठे है। हमारे नेता के कैलिबर का लोहा तो उस वक्त ही एनडीए को समझ मे आ जाना चाहिए था,जब वो राजद में टूट की बात करते रहे और लगातार और बारम्बार लफ़बाजिया करते रहे और तेजस्वी जी ने हम के जीतनराम मांझी को अपने साथ ले आये। लेकिन सिर्फ कुर्सी के दीवाने क्या समझेंगे सियासत उन्हेंतो सिर्फ पलटी मारना और जनादेश के साथ विश्वासघात करना ही तो आता है। सचिन यही नही रुकते बल्कि अपनी खुशी को साझा करते हुए गुलाल से सराबोर अपने चेहरे को साफ कर कहते है ये तेजस्वी यादव की जनता जनार्दन में मकबूलियत का सबसे बड़ा सच है।
बिहार में संपन्न उपचुनाव एक लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी-जेडीयू गठबंधन को झटका लगा है। वहीं आरजेडी के लिए परिणाम उत्साहित करने वाले हैं। अररिया लोक सभा सीट पर हुए उपचुनाव में आरजेडी के प्रत्याशी सरफराज आलम ने 61,988 वोटों से जीत दर्ज की है। इसके अलावा जहानाबाद विधानसभा सीट पर भी राजद  के कृष्ण मोहन ने जीत दर्ज की। वही भभुआ विधानसभा सीट पर बीजेपी की रिंकी रानी को जीत मिली है।सचिन अहीर आगे कहते है यह चुनाव परिणाम सूबे की सियासत में हमारे नेता के बढ़ते कद का सच बताता है। इस उपचुनाव के दौरान हमारे गार्जियन राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले में सियासी फरेब के कारण रांची के जेल में हैं।ऐसे में राजद के भविष्‍य व पार्टी में नेेता और नेतृत्व का संकट बताने वालों को करारा जवाब दिया है बिहार की महान जनता ने। साथ ही राजद सुप्रीमो के द्वारा तेजस्वी को अपना उत्तराधिकारी घोषित कर सभी काे चुप करा दिया। जब तेजस्वी  ने ‘हम’ को महागठबंधन में लाकर साबित किया कि वे पिता की छाया से दूर बड़े फैसले ले सकते हैं।अब प्रतिष्ठा का सवाल बने उपचुनाव में जीत ने तेजस्वी  के नेतृत्व पर मुहर लगा दी है। इसकी ताक़ीद लेकिन पूर्व हेल्थ मंत्री व राजद नेता तथा तेजस्‍वी के भाई तेजप्रताप यादव ने जीत का श्रेय तेजस्‍वी को ही दिया है।

तेजप्रताप के अनुसार इस जीत ने तेजस्‍वी के कद को बढ़ाया है। राजद के भाई वीरेंद्र सहित कई और नेताओं ने भी तेजस्‍वी के नेतृत्‍व की सराहना की है। अपनी बातों को विराम देते हुए सचिन कहते है नीतीश जी ये तो महज अंगड़ाई है आगे बड़ी लड़ाई है पर हमारा नेता न डिगा है न डरा है ना डरेगा चाहे आधी आये या तूफान गरीबो अकलियतों मजलुमो के हक़ की लड़ाई जारी रहेगी।

 

Loading...