Super Exclusive (वीडियो) तेजप्रताप यादव का अनोखा अंदाज़ एक जीर्ण शीर्ण प्राचीन मंदिर को देखते ही झाड़ू लेकर जुट गए सफाई में फिर कहा – भाजपा वाले मंदिर मस्जिद का रक्षा करना नही जानते है

पटना Live डेस्क। लालू यादव के बड़े बेटे और पूर्व हेल्थ मिनिस्टर तेजप्रताप यादव की श्रीकृष्ण भक्ति किसी से छिपी नही है। साथ ही अपने इष्ट देवो के देव महादेव की आराधना वो पूरे मनो योग से करते है।इसकी बानगी फिर एक बार दिखी जब तेजप्रताप अपने विधानसभा क्षेत्र वैशाली जिले के महुआ में आम लोगो से मिलने जुलने और उनकी समस्याओं का त्वरित समाधान करने खातिर पहुचे थे। इस दौरान वो क्षेत्र के लोगो से मिलने खातिर घूम रहे थे। इसी भ्रमण कार्यक्रम के दौरान अचानक उनकी नज़र एक जीर्ण शीर्ण प्राचीन मंदिर पर जा पड़ी फिर क्या था, तेजप्रताप ने बिना किसी संकोच और झिझक के झाड़ू उठाई और धूल के अंबार से अटे पड़े मंदिर की सफाई में जुट गये।
अपने हरदिल अज़ीज़ विधायक की सरलता को देखकर गाँव वाले जहा हतप्रभ रह गए वही साथ मे रहे आकाश यादव समेत अन्य साथी भी मंदिर की सफाई में जुट गये। पूरे मनोयोग से तेजप्रताप ने मंदिर की सफाई की और फिर पानी मंगाकर धुलाई की साथ ही उपस्थित जनसमूह से वायदा किया कि मंदिर का जीर्णोद्धार करेंगे ही साथ ही साथ जल्द ही गांव वालों के साथ मिलकर यज्ञ भी आयोजित करेंगे।
अपने जनप्रतिनिधि के इस बेहद सरल स्वभाव को देखकर उपस्थित आमलोग उनका जयकार करने लगे तो उन्होंने हर हर महादेव का नारा बुलंद किया। साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि – “भाजपा वाले मंदिर मस्जिद का रक्षा करना नही जानते है बस इनके नाम और सियासत करना जानते है।”
अमूमन हर किसी की मदद को तैयार रहने वाले तेजप्रताप महुआ की जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाने खातिर कोई भी कदम उठाने से नही हिचकते है। विशेषकर महुवासियों के लिए तो न रात देखते है न दिन बस समस्या का समाधान करने में लगे रहते है।
इसी की वजह से तो पटना Live ने जब एक महिला से पूछा कि – आपके MLA कैसे आदमी है? कुछ काम वाम भी करते है ? उस महिला का स्थानीय भाषा मे जो जवाब आया उसका लब्बो लुआब  था – अइसन लगता है कि घरे के लइका है,हमनी त सोचते है कि जब रहे तेजे बाबू हमनी के सुख दुख के देख रेख करे, तनको नही लगता है कि एतना बड़का घर के है बहुते निम्मन आदमी है। भवगान उनका हमेशा खुश रखे आ अई से ही हसित रहे।