तेजस्वी ने सीएम और डिप्टी सीएम का मांगा इस्तीफा,कहा-सृजन घोटाले की लीपापोती में जुटी है सरकार

पटना Live डेस्क. बिहार विधानसभा के मानसून सत्र का तीसरा दिन भी विपक्ष के हंगामे की भेंट चढ़ गया. हंगामे के बाद सदन की कार्यवाही स्थगित होने के बाद पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव अपने दल के विधायकों के साथ धरने पर बैठ गए. धरने पर बैठे तेजस्वी यादव ने सृजन घोटाले में सीएम नीतीश कुमार और डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के खिलाफ मामले में संलिप्तता का आरोप लगाकर उनके इस्तीफे की मांग की. तेजस्वी ने कहा कि घोटाला भागलपुर, भोजपुर, बांका समेत बिहार के कई जिलों में हुआ है. अधिकारी घोटाले की लीपापोती करने में लगे हुए हैं. तेजस्वी यादव ने कहा कि सृजन घोटाले के कई आरोपी विदेश भाग गए हैं. सरकार आरोपियों को बचाने में जुटी हुई है.

सीएम नीतीश कुमार और सुशील मोदी को जानकारी होने के बाद भी 10 साल तक मामले को दबा कर रखा गया. सरकार मामले को रफा दफा कराने में लगी हुई है. कई जदयू नेता भी घोटाले में संलिप्त हैं. तेजस्वी यादव के साथ तेजप्रताप समेत कई राजद नेता भी प्रतिमा के पास बैठे.

उधर तेजस्वी के कर्पूरी ठाकुर की प्रतिमा के पास बैठने पर भाजपा नेता नंद किशोर यादव ने तेजस्वी यादव पर पलटवार किया और कहा कि आज कर्पूरी ठाकुर जी की आत्मा रो रही होगी. आत्मा कहती होगी कि आज कैसे-कैसे लोग उनकी प्रतिमा के पास बैठ रहे हैं.