मोतिहारी: सुशील मोदी का आरोप, बिहार में कानून व्यवस्था का बुरा हाल, दो खेमों में बंटी पुलिस

पटना Live डेस्क. राज्य में बढ़ते आपराधिक घटनाओं को लेकर बीजेपी नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने बड़ा बयान दिया है. मोतिहारी में मीडिया से बातचीत के दौरान सुशील मोदी ने कहा कि राज्य में नौकरशाही और पुलिस सीएम नीतीश कुमार और लालू प्रसाद के खेमों में बंट गई है. उन्होंने कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था का बुरा हाल इसलिए है, कारण कि दोनों नेता अपने हिसाब से प्रशासन और पुलिस को चलाना चाहते हैं. वहीं मोतिहारी से पटना लौटकर उन्होंने एकबार फिर नीतीश कुमार पर निशाना साधा और कहा कि सीएम ने भ्रष्टाचार से समझौता कर लिया है. बीजेपी नेता बुधवार को मोतिहारी में थे वहां से लौटकर पटना में उन्होंने सीएम नीतीश कुमार से सवाल किया कि नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के जीरो टॉलरेंस की नीति पर कायम हैं या अपनी कुर्सी बचाने के लिए समझौता कर लिया है? उन्होंने सवालिया लहजे में पूछा कि सीबीआई छापेमारी के बारह दिन बाद भी भ्रष्टाचार के आरोपों पर जनता को सफाई नहीं देने वाले तेजस्वी यादव को क्या सीएम ने मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने का इरादा छोड़ दिया है?

उन्होंने कहा है कि 10 दिन पहले मुझपर मानहानि का मुकदमा करने की धमकी देने वाले लालू प्रसाद आज तक मुकदमा करने की हिम्मत नहीं जुटा पाए। मायावती को राज्यसभा भेजने का ऐलान करने वाले लालू प्रसाद के राज में आधे दर्जन से अधिक नरसंहारों में सैकड़ों दलित मारे गए, जिन्होंने दलितों को आरक्षण दिए बिना पंचायत का चुनाव करा दिया, वे अब दलितों के नाम पर घडिय़ाली आंसू बहा रहे हैं।

इसके पहले पूर्व उप मुख्यमंत्री अपराधियों की गोलियों से मारे गए किराना व्यवसायी इंद्रजीत के परिजनों से मिलने उनके घर पहुंचे और परिजनों से मिलकर उन्हें ढाढ़स बंधाया. सुशील मोदी ने कहा कि पूर्वी चंपारण में ज्यादा घटनाएं हो रही हैं। टारगेट कर इंद्रजीत जायसवाल की हत्या की गई। इन घटनाओं से दहशत पैदा हो रही है।