भ्रष्टाचार को खत्म करना है मकसद: साइकिल से 71500 किलोमीटर यात्रा कर नवादा पहुंचा सुदर्शन

0
15

पटना Live डेस्क। भ्रष्टाचार देश से खत्म करने के लिए उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर जिले के रहने वाले सुदर्शन प्रसाद विश्वकर्मा ने एक अनोखी मुहिम की शुरुआत की थी जिसे पूरा करते हुए वे पहुंच गए बिहार के नवादा जिल में । बता दें कि देश से भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए सुदर्शन ने 18 मई 2005 से ही साइकिल यात्रा की शुरुआत की थी जो अब तक उन्होंने जारी रखी है। उत्तर प्रदेश से उन्होंने इस मुहिम की शुरुआत की थी। दिन-रात निस्वार्थ रूप से मेहनत करते हुए वे पंजाब, उत्तराखंड, हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश, दमन, महाराष्ट्रा, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, केरल, गोआ, नागालैंड, मिज़ोरम, अरुणाचल, ओडिसा, बंगाल, असम, छत्तीसगढ़, झारखंड का दौरा कर चुके है। अब वे पहुँच गए हैं बिहार जहाँ उन्होंने अब तक 12 जिलों का दौरा कर लिया है और फिलहाल नवादा पहुचे हैं। भ्रष्टाचार ख़त्म करने के मकसद से सुदर्शन ने यात्रा में अब तक कुल 71500 किलोमीटर की दूरी साइकिल से तय कर ली है। इतनी दूरी तय करने के लिए उन्हें 33 राज्यों के लगभग 507 जिलों की यात्रा करना पड़ा। हर जगह जा कर लोगों को भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए वे जागरूक कर रहे हैं।


बिहार के नवादा पहुंचे सुदर्शन ने बताया कि, “भ्रष्टाचार के खिलाफ इस यात्रा में काफी परेशानियों भी सामने आयी पर समाज सेवा करना मुझे अच्छा लगता है। साथ ही मुझे भ्रष्टाचार को खत्म करवाना है, बस इसी के बारे में सोच कर आगे बढ़ता रहता हु और अब तक रुका नहीं। नतीजा है कि आज कई राज्यों में अपना संदेश देने के बाद अब बिहार भी पहुँच चूका हूँ। इस बात के खिलाफ लड़ने की हिम्मत मुझे अन्ना हजारे जी से मिली। मैं कई बार उनसे मिला भी हूँ।” सुदर्शन ने अभी केंद्र में चल रही मोदी सरकार की तारीफ भी की और कहा कि मोदी सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ रही है और बेहतर काम कर रही है।


भ्रष्टाचार के खिलाफ सुदर्शन के इस दौरे में सबसे खास बात यह है कि हर जगह के लोगो से वे भ्रष्टाचार को खत्म करने की अपील करते हैं और वे अन्ना हजारे को प्रेरणास्रोत मानते हैं। उन्होंने बताया कि इस यात्रा के दौरान आम जनता का उन्हें भरपूर सहयोग मिला। जब वह भ्रष्टाचार के खिलाफ साइकिल से यात्रा करते हुए नवादा के कलक्टर ऑफिस पहुंचे तो वहां के ओएसडी मुकेश रंजन से मिल कर बात की। फिर उन लोगों से विदा लेते हुए अपनी अगले मंजिल की तरफ बढ़ते चले गए। उनके इस नेक कार्य और हौसले के लिए पटना लाइव का सलाम।

Loading...