BiG News – पटना में थानाध्यक्ष दनियावाँ ने पेश  किया गंगा-जमुनी तहजीब की अनूठी मिसाल, यही तो है असली हिंदुस्तान

#सरफ़राज़ इमाम ने किया मन्दिर निर्माण ख़ातिर किया विधिवत भूमि पूजन

#गंगा-जमुनी तहजीब की अनूठी मिसाल पेश की पटना में थानाध्यक्ष दनियावाँ ने पेश की अनूठी मिसाल, मन्दिर निर्माण ख़ातिर विधिवत किया भूमि पूजन

पटना Live डेस्क। भारत में “विविधता में एकता” की प्रसिद्ध अवधारणा बिल्कुल सटीक बैठती है। हिदुस्तान की खूबसूरती है इसकी गंगा-जमुनी तहजीब है। अनेकता में एकता और आपसी भाईचारा और सौहार्द हमारी पहचान है। हालांकि, आजकल इसी खूबसूरती को खत्म करने में भी कुछ लोग लगे हुए हैं। लेकिन ऐसी बहुत सी मिसालें हैं जो उम्मीद जगाती हैं और जिन्हें देखकर ये लगता है कि जो ताना-बाना इस देश में आपसी भाईचारे का है वो इतनी आसानी से टूटने वाला नहीं है।

                         देश में एक तरफ मंदिर मस्जिद के नाम पर कुछ लोग राजनीति करने से परहेज नही करते, वहीं कुछ लोग गंगा जमुनी तहजीब की आज भी मिसाल पेश करते नजर आते हैं। वाकई यह अनुकरणीय है। समाज मे भाईचारा को कायम और अक्षुण्ण करने में ऐसे लोग हमेशा याद किये जायेंगे। कौमी एकता और सर्व धर्म समभाव की उक्ति का अक्षरशः पालन करने की एक मिसाल देखने को मिला पटना जिले के दनियावां थाने में जहां पदस्थापित थानाध्यक्ष मो० सरफराज आलम ने स्वयं थाना परिसर मे शिव मंदिर निर्माण के लिए पूरे विधि विधान से न केवल भूमि पूजन किया बल्कि खुद पूजा पर बैठ कर बिधिवत पूजन की तमाम कवायदों का निर्वहन किया।                              इस युवा सब इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष ने इस बात की कोई परवाह नही की संकीर्ण मानसिकता के मजहबी ठेकेदार इस कार्य को किस रूप में लेंगे। उन्होंने वो सब कुछ किया,जिसे कट्टरपंथी तो कतई स्वीकार नही करेंगे। थाना परिसर में प्रायः जगहों पर मंदिर की परंपरा रही है और इन्होंने नवनिर्मित थाना परिसर में इसी परंपरा को जीवंत प्रस्तुति की है। पूजन के साथ ही उसके साथ ही मंदिर निर्माण का काम प्रारंभ हो गया है।थानाध्यक्ष के इस अनूठे पहल की इलाके में खूब चर्चा हो रही है तथा इलाके में तमाम धर्मावलंबियों और बुद्धिजीवी वर्ग मुक्तकंठ से उनकी तारीफ कर रहे हैं।