ब्रेकिंग – (Exclusive)आईजी पटना ने जैद अपहरण कांड का त्वरित उद्भेदन खातिर एसएसपी मनु महाराज समेत तमाम पदाधिकारियों को किया सम्मानित और बैठक कर किया प्रोत्साहित

0
12

पटना Live डेस्क। पटना पुलिस ने मंगलवार को 12 घंटे के अंदर एक अपहृत छात्र जैद को सकुशल रिहा करा लिया।नौवी क्‍लास के छात्र जैद का अपहरण पटना के पॉश इलाके पाटलिपुत्र कॉलोनी उस वक्‍त हुआ जब वह स्‍कूल जा रहा था। पुलिस ने मंगलवार शाम को राजधानी पटना के गर्दनी बाग इलाके से जैद का अपहरण करने वाले मास्‍टमाइंड शशि और उसके पांच अन्‍य सहयोगियों को गिरफ्तार किया है। शशि ने जैद के परिवार से डेढ़ करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की थी। बताया जा रहा है कि जैद के अपहरण की वारदात को अंजाम देने वाला मुख्‍य अपहरणकर्ता रिटायर प्रोफेसर का बेटा है और इवेंट मैनेजमेंट कंपनी चलता था। इस कंपनी में घाटे की भरपाई के लिए उसने अपहरण की वारदात को अंजाम देने की साजिश रची।
महज 12 घंटे में एसएसपी मनु महाराज के नेतृत्व में पटना पुलिस की इस जबरदस्त कामयाबी को देखते हुए आईजी पटना नैयर हसनैन खान ने जैद अपहरण कांड का त्वरित उद्भेदन खातिर एसएसपी मनु महाराज,एसपी सिटी अमरकेश डी,एएसपी (अभियान) राकेश दुबे, डीएसपी शिबली नोमानी, इंस्पेक्टर धीरेंद्र पांडेय, सब इंस्पेक्टर मृत्युंजय कुमार, एसआईए विजय प्रकाश समेत सेल के तमाम अधिकारियों को कैश रिवार्ड से न केवल सम्मानित किया बल्कि एप्रेसिएसन लेटर भी प्रदान किया। साथ ही तमाम पदाधिकारियों का उत्साहवर्धन भी किया।
विदित हो कि शशि का एक साथी वकार जो पेशे से लाइनर का काम करता है वह छात्र जैद के घर किराए पर रहता था। पुलिस ने वकार को भी गिरफ्तार कर लिया है। पटना शहर में पिछले बीस दिनों में यह अपहरण की तीसरी वारदात है। हालांकि इसमें एक बच्‍चे की हत्या भी कर दी गई थी और दो बच्‍चों को पुलिस ने रिहा कराने में सफलता हासिल पाई।
जैद के अनुसार, मंगलवार सुबह जब वह स्कूल जा रहे थे तब एक कार में सवार चार लोगों ने उसे कहा कि छेड़खानी का आरोप लगाकर मुझे गाड़ी में बैठा लिया और फिर एक घर में जंजीर से बांध दिया। परिवारवालों ने फिरौती का फोन आने के बाद मामला दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने उस नंबर को ट्रेस किया तो अपहरणकर्ताओं के बारे में सुराग मिला और किडनैपर्स तक पहुंचने में मदद मिली।

 

 

Loading...