एक बार फिर घोड़े पर सवार मनु महाराज की तस्वीर हुई वायरल,धार्मिक सौहार्द ख़ातिर सड़क पर करते रहे गश्त

181

पटना Live डेस्क। भारत मे कुछ ऐसे भी आईएएस और आईपीएस अफसर हैं,जो अपनी जिम्मेदारियों निभाने ख़ातिर किसी भी हद तक चले जाते है।उनके प्रयास और अवाम ख़ातिर कोई गए कार्य आज मिशाल के तौर पर पेश किए जा रहे हैं। यहां हम बात करेंगे एक जांबाज अफसर मनु महाराज की जिनके काम के बारे में लगातार बातें होती रहती हैं।

बिहार की राजधानी पटना के एसएसपी मनु महाराज अपनी बेबाक स्टाइल की वजह से सुर्खियों में बने रहते हैं। कभी दबंग तो कभी सिंघम के नाम से चर्चा में रहने वाले मनु महाराज को इन्ही वजहों से जाना जाता है।पटना के एसएसपी मनु महाराज अपराधियों के लिए खौफ का दूसरा नाम हैं। जो सिर्फ अपराधियों के लिए ही आफत नहीं,बल्कि कामचोर पुलिस वालों की भी समय-समय पर खबर लेते रहते हैं। शहर की सुरक्षा-व्यवस्था जानने के लिए मजदूर का भेष धर लेते हैं। तो कभी बाइक उठा अकेले गश्ती पर निकल जाते हैं।

अपनी सिंघम स्टाइल और मूंछों की वजह से चर्चा में रहने वाले मनु महाराज किसी भी ऑपरेशन में खुद टीम को लीड करते हैं और एके-47 लेकर फील्ड में पहुंच जाते हैं। एसएसपी मनु महाराज का काम करने का अपना स्टाइल है। देर रात को जब शहर सोता है तब मनु महाराज अपनी बाइक से गश्ती करने के लिए निकलते हैं। मनु महाराज की चौकस आंखों से शायद ही कोई शातिर बदमाश बच पाया हो।लेकिन ऐसा नहीं है कि मनु महाराज की निगाहें केवल अपराधियों पर रहती है, पुलिस महकमे के सुस्त अधिकारियों को भी एक्टिव बनाने की मुहिम में जुटे हुए हैं मनु महाराज। सिंघम नाम से मशहूर मनु महाराज देर रात को पटना की सड़कों पर गश्ती करते हैं।


मनु हिमाचल प्रदेश के रहनेवाले हैं। शिमला से स्कूल की पढ़ाई करने के बाद इन्होंनेआईआईटी रुड़की से बीटेक किया। यूपीएससी की तैयारी के दौरान जेएनयू से एनवॉयरमेंटल सांइस में पोस्ट ग्रेजुएशन किया। 2005 में इन्होंने यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की।
मनु महाराज काम के साथ-साथ अपनी मूंछों के लिए भी बड़े मशहूर हैं। कहा जाता है कि अजय देवगन की फिल्म सिंघम देखने के बाद इन्होंने अपनी मूंछों की स्टाइल बदली। जिसकी वजह से लोग इन्हें सिंघम बुलाते हैं। मनु महाराज बड़े-बड़े ऑपरेशन को खुद लीड करते हैं। नक्सली इलाके में काम करने के लिए राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी इनको सम्मानित भी कर चुके हैं।

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि उन्होंने आईएएस रैंक मिलने के बावजूद भी आईपीएस चुना। क्योकि  वह एक आईपीएस अफसर बनना चाहते थे। इस तरह उन्होंने अपने सपने को पूरा कर लिया।किसी भी विषम परिस्थिति में हमेशा मुस्कराते रहने वाले मनु ने कभी भी किसी अपराधी तक को बुरे शब्द नहीं बोले हैं। उनकी स्टाइल के पुलिस महकमें और आम लोगों के साथ ही राजनेता भी मुरीद हैं। यही वजह है कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के वह चहेते अफसरों में से एक हैं।

एक बार मनु महाराज चेहरे पर गमछा लगाए, पैर में चप्पल पहने टूटी साइकिल पर सवार होकर पुलिस जिप्सी के पास पहुंचे। जीप में बैठे पुलिसवाले से बोले- साहब, मैं मजदूरी करके लौट रहा था, तभी रास्ते में बदमाशों ने मुझे लूट लिया है। कृपया मेरी मदद कीजिए। इस पर पुलिस वाले ने उनकी बात अनसुनी कर दी। उन्हें वहां से भगाने लगें। इसके बाद भी वह उससे गुजारिश करते रहे, इस पर झल्लाए पुलिसवाले ने उन्हें थप्पड़ मारने की कोशिश की, तभी उन्होंने चेहरे से गमछा हटा दिया। इसके बाद पुलिसवाला सन्न रह गया।
बता दें कि पटना के दियारा इलाके में अगस्त 2016 में एक ऑपरेशन के दौरान उन्होंने खुद ही कमान संभाली थी। वही अपनी दरभंगा में पोस्टिंग के दौरान भी एक क्रिमिनल को पकड़ने के लिए वे घोड़े पर सवार होकर मैदान में उतरे थे। वे पटना के अलावा गया और दरभंगा में भी पोस्टेड रहे हैं। गया में पोस्टिंग के दौरान वे नक्सली इलाकों में भी पहुंच जाते थे। वहीं, दरभंगा में कई बड़े ऑपरेशन को भी अंजाम दे चुके हैं।वही बात अगर राजधानी पटना की करे तो वो अमूमन अमूमन चारपहिया गाड़ी या मोटरसाइकिल में पेट्रोलिंग करते नज़र आने वाले एसएसपी मनु महाराज आज कुछ खास अंदाज में ही सड़कों पर पेट्रोलिंग करते नजर आए। मनु महाराज ने घोड़े पर सवार हो कर मुहर्रम के मौके पर सुरक्षा व्यवस्था का जायज़ा लिया। मनु महाराज पहलेे भी पेट्रोलिंग करते आए है। लेकिन इस बार उन्होंने घोड़े में पेट्रोलिंग कर सबको चौंका दिया। रविवार को उन्होंने मुहर्रम के मौके पर व्यवस्था को सुधारने के लिए घोड़े पर सवार होकर पेट्रोलिंग की।


राजधानी में आम शहरी की सुरक्षा और पुलिस की कार्यशैली का जायजा लेते हुए एसएसपी मनु महाराज को आपने कई दफा देखा होगा। कभी  पैदल ही कई किलोमीटर तक फ्लैग मार्च पर निकल जाते हैं। तो कभी वो अंधेरी रात में अपनी टीम के साथ बाइक से शहर के मेन एरिया से लेकर आउटर एरिया तक घूम आते हैं। तो कभी थानों में पुलिस की सतर्क को आंकने ख़ातिर बिना थाने को अवगत कराए पुलिस जीप को लेकर सड़को पर गश्त को निकल जाते है।

अपने पुलिसिंग व्यवस्था को करीब से देखने का इनका समय-समय पर अलग अंदाज देखने को मिला है। अब एक बार फिर से पटना के एसएसपी मनु महाराज का नया अंदाज देखने को मिला इस बार वो घोड़े की सवारी करते हुए दिखे।रविवार की सुबह एसएसपी घोड़े पर सवार होकर अपने सरकारी आवास से निकले थे. चिड़िया घर के गेट नंबर दो से राजभवन होते हुए बेली रोड तक गए। इस दौरान करीब एक घंटे तक इस रूट पर वो घूमते रहे।बेली रोड के कई पूजा पंडालों में गए. वहां की प्रतिमाएं विसर्जित की गई या नहीं, इसके बारे में ज़मीनी हकीकत का जायजा लिया।
इस दौरान  एसएसपी के लिए चितकोहरा के पास स्थित पुलिस के अश्वारोही दल से घोड़ा मंगाया गया था। घोड़े पर बैठकर ये आगे-आगे चल रहे थे। इनके साथ और पीछे पूरी टीम चलते रहे। एसएसपी का पुनः एक बार राजधानी की सड़कों पर अश्वरोहन का ये अंदाज सोशल साइट्स पर पूरी तरह से वायरल हो चुका है।
साथ ही उनके यह अंदाज लोगों के बीच चर्चा का विषय बना रहा, लोग उनका ये नया रुप देख काफी खुश हुए और देखने के लिए कई जगह लोग रुके भी। दुर्गा पूजा और मोहर्रम के मद्देनजर पटना एसएसपी मनु महराज ने सभी थानाध्यक्षों और अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं औऱ निर्धारित गश्त करने के निर्देश दिए हैं।