EXCLUSIVE – एसएसपी पटना ने बाइकर्स के उत्पात से निजात ख़ातिर गठित कर दी है स्पेशल टीम,  इंस्पेक्टर के नेतृत्व QRT वन लगातार मार रही ताबड़तोड़ छापा

पटना Live डेस्क। राजधानी की सड़कों पर तेज रफ्तार बाइक दौड़ाते हुए वारदातों को अंजाम देने वाले तमाम  बाइकर्स गैंग को नेस्तनाबूत कर एसएसपी मनु महाराज ने शहर को इनकी कारगुजारियों से निजात दिला दिया था। साथ ही तमाम गुर्गों और सरगनाओं को जेल भेज दिया था, लेकिन जेल से निकलते ही एक बार फिर अपने इलाकों पर कब्जा जमाने और अपनी लूट चुकी सल्तनत को वापस पाने ख़ातिर पुनः एक बार विगत दिनों बाइकर्स गिरोह में दिनदहाड़े खूनी टकराव हुआ था। इस घटना को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी पटना ने फिर इनपर पुलिसिया कार्रवाई करने की तैयारी कर चुके है। स्पेशल टीम छापेमारी कर रही है। शहर के मुख्यतः इन थानाक्षेत्रों में इनका कहर है। बुद्धा कॉलोनी, एसकेपुरी, राजीव नगर, कोतवाली, गांधी मैदान, पत्रकार नगर, सचिवालय, कंकड़बाग, पीरबहोर,कदमकुआं थाना क्षेत्रों में  पुलिस ने बाइकर्स  गैंग्स के लड़कों को लूट,चोरी ,रंगदारी फायरिंग और मारपीट के आरोप मे गिरफ्तार कर जेल भेजा है।
एसएसपी ने बनवाया था गैंग का डाटाबेस               एसएसपी ने बताया कि राजधानी मे ऐसे किसी भी बाइकर्स या आपरधी गैंग को पनपने नही दिया जाएगा।
इनपर लगाम लगाने के उद्देश्य से पूर्व में जो इन गैंग का डाटाबेस तैयार किया गया था। इससे  कार्रवाई में बड़ी
मदद मिल रही है। स्पेशल टीम लगातार चिन्हित बाइकर्स के घरों पर दस्तक दे रही है साथ ही उनके ठिकानों पर भी नज़र रखी जा रही है। जल्द ही इनकी गिरफ्तारी में सफलता मिलने की उम्मीद है।
इंस्पेक्टर कमाख्या नारायण सिंह के नेतृत्व विशेष दस्ते ने सोमवार की रात छापेमारी की तो की ही साथ ही साथ मंगलवार को बुद्धकोलोनी थाने में जाकर थाना क्षेत्र में सक्रिय बाइकर्स गैंग के सदस्यों के बाबत जानकारी इकट्ठा कर आगे की रणनीति तैयार की है।

उल्लेखनीय है कि पटना में बाइकर्स गैंग के बीच  इसी महीने की 9 तारीख दिन गुरुवार को गैंगवार की घटना हुई थी।बाइकर्स गैंग के लोगों ने एक दूसरे पर अंधाधुंध गोलियां चलायीं थी। दोनों ओर से चलीं गोलियों में चार को गोली लगी थी। सभी को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। एक को आईसीयू में भर्ती कराया गया है जहां उसकी हालत गंभीर है और वो आज भी एक निजी नर्सिंग होम में इलाजरत है।
इस घटना के बाबत पुलिस ने बताया था कि रूपसपुर थाना इलाके में दो बाइकर्स गैंग के बीच आपस में ही भिड़ंत हो गयी। दोनों ओर से गोलियां चलीं। अचानक गोलियां चलने से अफरातफरी की स्थिति बन गयी। पुलिस के अनुसार,एक गैंग के शुभांकर, अभिषेक और पीयुष को गोली लगी जबकि दूसरे गैंग के शुभम को गोली लगी। इसमें पीयूष गंभीर रूप से घायल है। उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया था।
वर्चस्व में चलीं थी गोलियां                     बाइकर्स गैंग के बीच भिड़ंत आपसी वर्चस्व की लड़ाई में हुई थी। दोनों गैंग अपने-अपने इलाके में अपना सिक्का जमाना चाह रहे थे। यह खुरेजी की घटना 9 अगस्त की दोपहर  2 से 2.30 बजे की घटित हुई थी। तब मौके की नजाकत को देखते हुए मौके पर एसएसपी सहित भारी संख्या में पुलिस बल पहुंची थी।  पुलिस ने घटनास्थल से कई खोखे बरामद किए गए थे।

दोपहर  में हुई इस घटना के मूल में पूर्व में किंग्स ऑफ पटना बाइकर्स गैंग द्वारा छह माह पहले डीजे संचालक धीरज पर चाकू से हमला कर घायल कर दिया था।  आक्रोशित स्थानीय लोगों ने बाइकर्स गैंग के अपराधियों को खदेड़ दिया था। वहीं लोगों ने भाग रहे एक अपराधी शुभम सौरव उर्फ शुभम सिंह राजपूत को पकड़ कर धुन दिया था। शुभम दीघा का रहने वाला है। इसी शुभम को आज आपसी वर्चस्व में गोली मारी गयी है।
एसएसपी ने गठित की स्पेशल टीम – इंस्पेक्टर कामख्या नारायण सिंह कर रहे है नेतृत्व

इस वारदात को एसएसपी ने बेहद गंभीरता से लेते हुए पहले तो इस खुरेजी की घटना के हर पहलू की जानकारी थानाध्यक्ष से शीघ्रता से पता कर रिपोर्ट करने का आदेश दिया और फिर मिली जानकारी और चिन्हित बाइकर्स की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने फरमान जारी किया था। लेकिन घटना को अंजाम दे फरार हुए बाइकर्स की गिरफ्तरी को जल्द से जल्द अंजाम देने ख़ातिर एसएसपी ने विगत दिनों क्विक रिस्पॉन्स टीम- एक को इंस्पेक्टर कामाख्या नारायण सिंह के नेतृत्व में विशेष टास्क देते हुए जल्द से जल्द खुरेजी में शामिल बाइकर्स को गिरफ्तार करने का ज़िम्मा सौपा है। मिली जिम्मेदारी को जल्द से जल्द पूरा करने ख़ातिर यह विशेष दस्ता ताबड़तोड़ छापेमारी कर रहा है।