बड़ी खबर – बिहार में हृदयविदारक घटना रफ़्तार के कहर ने लील ली 9 मासूमो की जिंदगियां, 20 अस्पताल में इलाजरत

1
25

पटना Live डेस्क। बिहार की सड़कों पर रफ्तार का कहर लगातार जारी है। बेलगाम रफ्तार से दौड़ते वाहन में मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर प्रखंड में शनिवार दोपहर दिल दहला देने वाला हादसे को अंजाम दिया।  स्कूल से लौटते समय एनएच 77 के मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी खंड पर अनियंत्रित बोलेरो ने डेढ़ दर्जन से अधिक बच्चों को रौंद दिया। इसमें से नौ बच्चों की मौत हो गई। हादसे के बाद बोलेरो भी पलट गई और उसमें सवार महिलाएं और अन्य लोग भी घायल हो गए।तीन महिला, एक युवक और 10 बच्चों सहित 20 घायलों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया है। चार बच्चों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है।घटना के बाद से एसकेएमसीएच में अफरातफरी का माहौल है। परिजनों और ग्रामीणों ने इलाज में विलंब को लेकर हंगामा किया। स्कूल के एक शिक्षक पहुंचे तो गुस्साए लोगों ने उनकी पिटाई कर दी। वे किसी तरह जान बचाकर भागे।
इधर, सीतामढ़ी-मुजफ्फरपुर एनएच को जाम कर लोग हंगामा कर रहे हैं। डीएम ने मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है।

बताया जाता है कि उत्क्रमित मध्य विद्यालय धर्मपुर से छुट्टी होने के बाद बच्चे घर लौट रहे थे। रास्ता पार करने के क्रम में सीतामढ़ी से मुजफ्फरपुर तेज गति से आ रही एक बोलेरो ने बच्चों को रौंद दिया। जब तक कोई कुछ समझ पाता, कई बच्चे इसकी चपेट में आ गए। रफ्तार तेज होने के चलते चालक ने नियंत्रण खो दिया और कुछ दूर जाकर बोलेरो भी पलट गई।घटनास्थल से लेकर एसकेएमसीएच तक मृत बच्चों के परिजनों की चीख-पुकार मची रही। एसकेएमसीएच के अधीक्षक जीके ठाकुर अस्पताल में मुस्तैद हैं। डीएम और एसएसपी भी पहुंच गए हैं। लाशों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। एक-दो बच्चों के बारे में जानकारी नहीं मिल पा रही। परिजन इसे लेकर हंगामा कर रहे हैं।

रौंदते हुए निकल गई बोलेरो 

घटना मुजफ्फरपुर सीतामढ़ी एनएच पर अहियापुर के समीप झपहां स्थित एक सरकारी स्कूल के बच्चे छुट्टी के बाद घर की ओर जा रहे थे कि सड़क पर तेज गति से आ रही बोलेरो बच्चों को रौंदती हुई निकल गई जिसमें नौ बच्चों की मौत हो गई और बीस से ज्यादा घायल हो गए हैं। घटना आज दोपहर एक बजे के बाद घटी है। इस बाबत एसएसपी विवेक कुमार ने बताया कि बोलेरो चालक ने पहले ही किसी को ठोकर मार दी थी और गाड़ी की रफ्तार तेज कर वो भाग रहा था जिसकी वजह से उसने इस घटना को अंजाम दिया है। उन्होंने बताया कि बोलेरो को जब्त कर लिया गया है और चालक की तलाश की जा रही है। जल्द ही उसे पकड़ लिया जाएगा।

चार-चार लाख का मिलेगा मुआवजा

हादसे के बाद बिहार सरकार ने मृतक बच्चों के परिजनों को चार-चार लाख मुआवजा देने का एलान किया है। वहीं स्थानीय विधायक मुन्ना यादव ने बताया कि प्रत्यक्षदर्शियों ने जो बताया है उसके मुताबिक बोलेरो चालक नशे की हालत में था और इसी वजह से उसने नियंत्रण खो दिया होगा और बच्चों को बुरी तरह कुचल दिया है। वहीं जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि बोलेरो के नंबर के आधार पर उसके मालिक का भी पता किया जा रहा है कि गाड़ी किसकी है और कौन चला रहा था? जल्द ही आरोपी पकड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि अस्पताल में घायलों का इलाज किया जा रहा है अगर आवश्यकता पड़ी तो घायलों को बाहर बेहतर इलाज के लिए भेजा जाएगा।बताया जा रहा कि धर्मपुरी विद्यालय में छुट्टी के बाद बच्चे घर लौट रहे थे। मुजफ्फरपुर -शिवहर मार्ग पर तेज गति से आ रही बोलेरो इन बच्चों को कुचलती चली गई। जबतक कोई कुछ समझ पाता कई बच्चे इसकी चपेट में आ गए।

घटना के बाद स्थानीय विधायक मुन्ना यादव ने आरोप लगाया है कि चालक नशे में था और उसने इस तरह की घटना को अंजाम दिया है। उसकी अविलंब गिरफ्तारी होनी चाहिए।घटना के बाद स्थानीय लोगों में काफी आक्रोश है। लोगों ने दो जगह सड़क जाम कर दिया और हंगामा मचाया लेकिन प्रशासन की तरफ से आश्वासन मिलने के बाद लोग शांत हुए। घटनास्थल से लेकर एसकेएमसीएच तक कोहराम मच गया है। लोगों की चीख पुकार मची हुई है।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जताई संवेदना

मुख्यमंत्री  नीतीश  कुमार  ने  मुजफ्फरपुर  जिले  के  मीनापुर  थाना क्षेत्र  के  धर्मपुर  स्थित  प्राथमिक विद्यालय  के  निकट  अनियंत्रित  वाहन  से  हुये  सड़क  हादसे  में   बच्चों  की  मौत  पर  गहरी  दुख  एवं संवेदना  व्यक्त  की  है।

कहा-तुरत अनुदान राशि उपलब्ध कराएं
मुख्यमंत्री  ने  कहा  कि  यह  घटना काफी  दुखद  है।  उन्होंने  कहा  कि  घटना  की  जांच  करायी  जायेगी  और  जांच  के  पश्चात समुचित  कार्रवाई  की  जायेगी।  मुख्यमंत्री  ने  इस  हादसे  में मृतक हर  बच्चे  के  परिवार  को 4-4  लाख  रूपये  अनुग्रह  अनुदान  अविलंब  देने का  निर्देश दिया  है।मुख्यमंत्री  ने  शोक  संतप्त  परिवारों  को  दुख  की  इस  घड़ी  में  धैर्य  धारण  करने  की  शक्ति प्रदान  करने की  ईश्वर से प्रार्थना  की  है। मुख्यमंत्री  ने  इस  हादसे  में  घायल  हुये  बच्चों  के समुचित  इलाज  का  निर्देश दिया  है और  कहा  है कि  घायल  बच्चों को  बेहतर  चिकित्सा  की  आवश्यकता  पड़ने  पर  भी राज्य  सरकार सभी  खर्च  वहन  करेगी। मुख्यमंत्री  ने घायल  बच्चों  के  शीघ्र  स्वस्थ  होने की  भी  कामना  की  है।

                        अस्पताल परिसर में बच्चों के परिजन बदहवास पहुंच रहे हैं और चीख पुकार मची हुई है। एक तरफ कुछ महिलाएं चीत्कार कर रही हैं, सबके छोटे-छोटे बच्चों ने छटपटाकर दम तोड़ दिया है। जैसे ही परिजनों को घटना का पता चला वो अस्पताल पहुंचे। मृतक सभी बच्चे एक ही गांव धर्मपुर के बताए जा रहे हैं। वही इस बाबत अस्पताल प्रबंधक ने कहा कि सभी घायलों का बेहतर इलाज किया जा रहा है, घायलों में चार की स्थिति गंभीर है जिन्हें आइसीयू में रखा गया है, सभी डॉक्टर इलाज में लगे हुए हैं। हमारी प्राथमिकता अभी घायलों को बचाने की है। मुजफ्फरपुर हादसे में मृतक बच्चों की सूची
शाहजहां खातून
शहनाज खातून
नुसरत खातून
सलमान
साजिया
नीता कुमारी
रचना कुमारी
अनिशा
बिरजू कुमार