Super Exclusive- (वीडियो) “स्पीड थ्रील्स बट किल्स”- डॉ शांति राय पोते की कार हादसे में GF के संग दर्दनाक मौत का वो सच, साथ रहे इंजीनियरिग में पढ़ने वाला अंशुमान आईसीयु में इलाजरत

251

पटना Live डेस्क। लाखो परिवारो की झोली खुशियो से भरने वाली सूबे की प्रतिष्ठित स्‍त्री रोग विशेषज्ञ डॉ शांति राय की झोली सदा के लिए लूट गई है। पोते की कर्नाटक में रविवार की अहले सुबह सड़क हादसे में दर्दनाक मौत हो गयी।घटना के बाद से डॉ शांति के पैतृक गांव जिला गोपालगंज के बरौली स्थित गांव से लेकर पटना स्थित घर में सन्नाटा पसरा है।
जानकारी के मुताबिक डॉ शांति राय का पोता जयंत राय कर्नाटक के बेलगाम स्थित जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज

    से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा था। रविवार की अहले सुबह सड़क हादसे में उसकी मौत हो गयी।डॉ शांति राय के बेेेटे डॉ हिमांशु राय व डॉ सारिका राय के बेटे थे जयंत राय।

मिली जानकारी के अनुसार घटना ढाई बजे रात की है जब चेरी कलर की “वोल्क्सवैगन वोगन” जिसका रजिस्टेशन नंबर KA22Z-4392 पर सवार होकर पुणे बैंगलोर एनएच-4 पर काफी तेज गति से जा रहे थे। घटना के वक्त पोलो कार में के.एल.ई. व्क इन्स्टिचुट ऑफ डेंटल सायंस, कॉलेज में डेंटल डॉक्टरी की पढ़ाई कर रही उनकी महिला मित्र निशा उनके साथ अगली सीट पर बैठी थी। वही दोनों का पटना के मूल निवासी कॉमन फ्रेंड अंशुमान पीछे सीट पर बैठा था जो जी आय टी कॉलेज में इंजीनियरिंग में पढ़ता है।
यह दर्दनाक हादसा रविवार की सुबह ढाई बजे से 3 बजे के आसपास पुणे बंगलुरु राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-4 पर सुमारास के समीप कमकारहट्टी जो थानाक्षेत्र हिरेबागेवाडी पुलिस स्टेशन अंतर्गत पड़ता है के समीप नेशनल हाइवे पर गाड़ी चला रहे जयंत ने पोलो पर से अपना नियंत्रण खो दिया और गाडी को सीधे डिवाइडर से जा टकराई। टक्कर इतनी  जोर दार था कि गाड़ी के चारो चक्का ऊपर हो गए और गाड़ी घसीटते हुए काफी दूर तक गई। घटना के बाद से कई मिनट तक तीनो घायल गाडी में ही पड़े रहे। टक्कर कितनी जोरदार थी कि गाड़ी के सेफ्टी बैग्स भी खुल गए थे। टक्कर की जानकारी हाइवे से गुजर रहे एक ट्रक चालक ने स्थानीय थाने को दी। भीषण घटना की जानकारी मिलते ही थाने के इंस्पेक्टर एस सी पाटील दल बल के साथ पहुचे। सभी तीनो घायलों को गाड़ी से बाहर निकाल कर कमकारहट्टी पीएचसी में पहुचाया जहा डॉक्टरों ने 22 साल के जयंत और 20 वर्षीय निशा को मृत घोषित कर दिया और अंशुमान की गंभीर है हालात को देखते हुए प्राथमिक उपचार के बाद रेफर कर दिया।
तीनो जख्मियों की पहचान कार में मौजूद आईडी कार्ड
के जरिये पुलिस ने उनके कॉलेज प्रशासन को इत्तिला करने के बाद दोनों मृतकों के शव को अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया।
फिर,गाड़ी को सड़क से हटाकर साइड कर दिया। वही घटना के बाबत पुलिस निरीक्षक हिरेबागेवाडी पुलिस स्टेशन पाटील ने कहा कि तीनों  घटना के वक्त ऐसा प्रतीत होता है कि नशे की हालत में थे जिसकी वजह से ये घटना घटी है। वही घटना के बाद कॉलेज प्रशासन ने इस बाबत मकतूल जयंत और निशा के परिजनों को पटना में फ़ोन कर इतिल्ला दी। ख़बर मिलते ही पटना में दोनों के घर पर कोहराम मच गया।
पोते की सड़क हादसे में हुई मौत की खबर सुन कर सभी घरवाले स्तब्ध हैं।घटना के बाद से डॉ शांति राय के आवास पर सन्नाटा पसरा है। अभी प्राप्त सूचना के अनुसार जयंत के परिजन बेलगाम पहुचकर शव पुलिस की फॉर्मिलिटीज़ पूरा कर अपने साथ पटना लाने की तैयारी में है।