बिहार प्रदेश कांग्रेस में टूट की खबरों के बीच दिल्ली तलब किए गए सदानंद सिंह और अशोक चौधरी

17

पटना Live डेस्क. बिहार प्रदेश कांग्रेस में टूट की खबरों के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी को आलाकमान ने दिल्ली तलब किया है. सदानंद सिंह और अशोक चौधरी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के बुलावे पर दिल्ली गए हुए हैं. दरअसल बिहार में शासन के बदलने के साथ ही कांग्रेस में टूट की खबरों ने जोर पकड़ना शुरु कर दिया था. अंदेशा लगाया जा रहा था कि नीतीश कुमार के विश्वासमत के दौरान ही कांग्रेस मे दो फाड़ हो जाएगा और टूटा हुआ धड़ा नीतीश कुमार को समर्थन करेगा. उसी दौरान प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह की जेडीयू नेता और जल संसाधन मंत्री ललन सिंह से मुलाकात भी हुई थी जिसके बाद कांग्रेस में टूट की चर्चा ने जोर पकड़ना शुरु कर दिया था. हालांकि खुद सदानंद सिंह ने उस समय ऐसी किसी भी बात से इऩकार कर दिया था. अब कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व को यह जानकारी मिली है कि खुद सदानंद सिंह पार्टी में टूट को हवा दे रहे हैं और उनके आवास पर नाराज विधायकों की बैठकों का दौर जारी है. जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के 10-12 विधायक पार्टी में टूट के लिए बकायदा तैयार भी हो गए हैं लेकिन दल बदल कानून से बचने के लिए 18 विधायकों की समर्थन की जरूरत हैं. बिहार में कांग्रेस के कुल 27 विधायक हैं.
जानकारी के मुताबिक विधायक दल के नेता सदानंद सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के करीबी हैं. कांग्रेस पार्टी में इससे पहले भी टूट की खबर के मद्देनजर पार्टी ने वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया और जेपी अग्रवाल को बिहार भेजा था. दोनों ने यहां की रिपोर्ट पार्टी आलाकमान को सौपीं थी.
आपको बता दें कि सदानंद कांग्रेस के पुराने नेता हैं और भागलपुर कहलगांव से लगातार जीतते आ रहे हैं.