(वीडियो) गोपालगंज में पत्रकार से दरोगा की दादागिरी कैमरे में कैद, डीएम ने दिया आश्वासन होगी कार्रवाई

88

धर्मेन्द्र कुमार रस्तोगी

पटना Live डेस्क। सुशासन की सरकार में पत्रकार दिन ब दिन दुर्व्यवहार, धमकी और फजीहत का निशाना बना रहे है।पत्रकारों के साथ नेताओं तथा पुलिस अधिकारियों द्वारा आये दिन गालीगलौज दुर्व्यवहार करने की घटना आम हो गई है। कोई ऐसा महीना नही है जिस महीने में किसी न किसी न पत्रकार के साथ सुशासन बाबू के विधायक हो या फिर वर्दी वाले गुंडे गाली गलौज करने से बाज नही आते,।गत सप्ताह कटिहार जिले के बरारी विधानसभा क्षेत्र से राजद विधायक के द्वारा प्रभात खबर के पत्रकार के साथ गाली गलौज व अभद्र भाषा का प्रयोग किया गया था, इस प्रताड़ना से पत्रकार साथी उभर नही सके थे कि इसी बीच गोपालगंज जिले में पुलिस द्वारा फ़ोटो जर्नलिस्ट के साथ दुर्व्यवहार और अभद्र भाषा के प्रयोग करने का मामला सामने आया है।
घटना उस वक्त की है जब हिंदी दैनिक समाचार पत्र राष्ट्रीय सहारा के फोटोग्राफर जफर अशद ने गोपालगंज के नगर थाने की पुलिस द्वारा की जा रही छापेमारी के दौरान की तस्वीर अपने कैमरे में कैद कर ली जिसके बाद नगर थाना के दरोगा सुबोध कुमार सिंह नाराज हो गए और पत्रकार के साथ दुर्व्यवहार करने लगे साथ ही उनका कैमरा भी छीन लिया।


प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को नगर थाना पुलिस स्मैक बेचने की सूचना पर काली स्थान रोड स्थित पुलिस लाइन के समीप छापेमारी करने गयी। छापेमारी की जानकारी मिलते ही स्थानीय पत्रकार ओर फोटोग्राफर भी मौके पर पहुंचे ओर छापेमारी की तसवीर कैमरे से लेने लगे। इसी बीच नगर थाना में तैनात एसआई सुबोध कुमार सिंह ने पत्रकार जफर अशद का कैमरा छीन लिया और उनके साथ अभद्र व्यवहार कर देख लेने की धमकी तक दे डाली। वहीं जब पत्रकार ने इसकी शिकायत एसपी और अन्य अधिकारियों से करने की बात कही तो दारोगा ने खुद को किसी भी अधिकारी से नही डरने की बात कहते हुए उलटे पत्रकार को जेल भेजने की धमकी तक दे डाली  सुबोध सिंह ने इतना तक कह डाला कि वो अपने किसी आलाधिकारी से नहीं डरते।
उधर घटना से नाराज पत्रकारों ने डीएम राहुल कुमार से इस मामले में हस्तक्षेप करते हुए उचित करवाई की मांग की। जिलाधिकारी ने 36 घंटे में घटनाक्रम की जांच कर कारवाई का आश्वासन दिया है।