Big Breaking – बॉलीवुड एक्ट्रेस श्रीदेवी का 54 वर्ष की आयु में निधन

0
168

पटना Live डेस्क। फ़िल्म इंडस्ट्री की रूप की रानी 54 वर्षीय एक्ट्रेस श्रीदेवी को दिल का दौरा पड़ने के कारण दुबई के एक होटल में उनका निधन हो गया है। इस दुखद खबर से बॉलीवुड में शोक की लहर है। इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में श्रीदेवी का काफी बड़ा योगदान रहा है। श्रीदेवी ने हिंदी के अलावा तेलगु, तमिल, कन्नड़ और मलयाली फिल्मों में भी काम किया।अभिनेत्री श्रीदेवी दुबई में मोहित मारवाह की वेडिंग अटेंड करने गई थीं                                                 यह परिवार श्रीदेवी के पति बोनी कपूर परिवार के रिश्तेदार हैं। वहीं अचानक हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई। दुबई में श्रीदेवी के साथ उनके पति बोनी कूपर और छोटी बेटी खुशी साथ में थे जबकि बड़ी बेटी जाह्नवी कपूर फिल्म की शूटिंग की वजह से मुंबई में हैं।ये खबर सुनकर पूरा बॉलीवुड सदमें है. जैसे ही उनके मौत की खबर मिली सोशल मीडिया पर उनके फैंस को इस पर यकीन ही नहीं हो रहा। संजय कपूर ने एबीपी न्यूज़ से इस खबर की पुष्टि की है।पिछले साल श्रीदेवी फिल्म मॉम में नज़र आईं थीं।
अभिनेत्री के निधन की खबर सुनते ही बॉलीवुड अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा, रितेश देशमुख, निमरत कौर, सुष्मिता सेन, जैकलीन फर्नांडिस और सिद्धार्थ मल्होत्रा सहित कई बड़े सितारों ने दुख जताया है।

जीवन परिचयश्रीदेवी का जन्म 13 अगस्त 1963 को हुआ था। श्रीदेवी ने सिर्फ हिंदी ही नहीं बल्कि तमिल, तेलुगू, मलयाली और कन्नड़ फिल्मों में भी काम किया था। 1975 में आई फिल्म जूली से श्रीदेवी ने चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर एक्टिंग में डेब्यू किया था। श्रीदेवी की पहचान बॉलीवुड की पहली महिला सुपर स्टार के तौर की जाती रही है।अपने फिल्म करियर की ऊंचाइयों के दौरान लाखों दिलों की धड़कन रही हैं।उन्होंने अपनी खूबसूरती और अपने अभिनय से अपनी अलग पहचान बनाई। बचपन में ही अपना फिल्मी सफर शुरू करने वाली श्रीदेवी ने 12 साल की उम्र में ही बॉलीवुड में बतौर बाल कलाकार कदम रखा। तेलगू, मलयालम, कन्नड़ फिल्मों में काम करने के बाद 1978 में पहली बार लीड हीरोइन के तौर पर बॉलीवुड में अपना ऐसा जलवा बिखेरा की पूरे सिने प्रेमियों को अपनी दीवानी बना लिया।
उनकी पहली फिल्म ‘मून्द्र्हु मुदिछु’ तमिल में थी। श्रीदेवी का बॉलीवुड में डेब्यू 1978 में फिल्म ‘सोलहवाँ सावन’ से हुआ। लेकिन उन्हें फेम फिल्म 1983 में रिलीज हुई फिल्म ‘हिम्मतवाला’ से मिला। 1983 में आई उनकी फिल्म मवाली ने बॉक्स ऑफिस पर ऐसा तहलका मचाया कि हरेक जुबान पर श्रीदेवी का जादू सिर चढ़कर बोलने लगा। नया कदम (1984), मकसद (1984), मास्टर जी (1985), नजराना (1987) ने उनके अभिनय के अलग अलग रंग बिखेर। 1987 में आई उनकी फिल्म मिस्टर इंडिया ने महलों से लेकर छोपड़ियों तक उनकी पहतान को गहरा कर गया। सदमा, नागिन,निगाहें, मिस्टर इन्डिया, चालबाज़, लम्हें, खुदा गावाह और जुदाई उनकी कुछ सुपरहिट फिल्में हैं। 2013 में श्रीदेवी को पद्म श्री का पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।