शहाबुद्दीन की पत्रकार राजदेव हत्याकांड,26 मई को मुज़फ़्फ़रपुर कोर्ट में पेशी

पटना Live डेस्क। बिहार के बाहुबली नेता व पूर्व राजद सांसद शहाबुद्दीन की मुश्किल बढ़ती प्रतीत हो रही है।सिवान के पत्रकार राजदेव हत्याकांड में जांच कर रही सीबीआई ने उनकी संलिप्तता पायी है। पूर्व सांसद वर्त्तमान में फिलहाल शहाबुद्दीन दिल्ली के तिहाड़ जेल में बंद हैं। सीबीआई के विशेष कोर्ट ने ही पूर्व सांसद के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी किया है।

                               सूत्रों के अनुसार शहाबुद्दीन की एक जून को सीबीआई कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पेशी होगी। गौरतलब है कि 13 मई 2016 को अपराधियों ने सीवान में ही पत्रकार राजदेव रंजन की गोली मार कर हत्या कर दी थी। घटना के दौरान अपराधी दो बाइक पर सवार होकर आए थे और काण्ड को वारदाता कर फरार हो गए थे। जांच में यह बात आयी थी कि घटना के तार तब सीवान जेल में बंद बिहार के बाहुबली नेता और माफिया शहाबुद्दीन से जुड़े हैं। तब दिवंगत पत्रकार राजदेव रंजन की पत्नी आशा रंजन ने सरकार से मामले की सीबीआई जांच की मांग की, लेकिन तीन माह बीत जाने के बाद भी जब सीबीआई ने केस को नहीं लिया तो आशा रंजन ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की थी। इसके बाद हत्याकांड की जांच सीबीआई ने शुरू की।


जांच के दौरान सीबीआई टीम कई बार सीवान जाकर जांच की थी।इधर शहाबुद्दीन की संलिप्तता पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड में पायी गयी है। हत्याकांड के अनुसंधानकर्ता सीबीआइ के डीएसपी सुनील सिंह रावत ने विशेष कोर्ट में एक आवेदन दाखिल किया।इसमें उन्होंने पूर्व सांसद के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट जारी कर मामले की पेशी के लिए हाजिर करने की याचिका दायर की।सोमवार को आवेदन को सीबीआई की विशेष कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है।अब इस मामले में 26 मई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोर्ट में पूर्व सांसद शहाबुद्दीन की पेशी होगी  मालूम हो कि इस मामले में लड्डन मियां सहित छह जेल में बंद हैं। पूर्व सांसद की तिहाड़ से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुनवाई होगी।