Super Exclusive(वीडियो और पिटीशन) तिहाड़ में अनशन पर एक्स MP शहाबुद्दीन,गैंगेस्टर नीरज बवाना समेत 80 कैदी, छोटा राजन को विशेष सुविधाएं देने आरोप

0
18

पटना Live डेस्क। बिहार के सिवान से राजद से पूर्व सांसद शहाबुद्दीन एवं दिल्ली के कुख्यात गैंगेस्टर नीरज बवानिया ने भूख हड़ताल शुरू कर दी है। आरोप है कि माफिया डॉन छोटा राजन को बैरक में टीवी,किताब समेत अन्य सुविधाएं दी जा रही है, लेकिन उन्हें यह सुविधाएं नहीं मिल रही है। जिसको लेकर दोनों ने यह हड़ताल शुरू की है। साथ मे 80 अन्य कैदियों ने भी भूख हड़ताल कर दिया है।
दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवाना और बिहार के बाहुबली पूर्व सांसद शहाबुद्दीन और माफिया छोटा राजन तीनों ही 2 नंबर हाई रिस्क वार्ड में बंद हैं। तीनों के बैरक अलग-अलग हैं। उनके बीच काफी दूरी है।नीरज और शहाबुद्दीन का आरोप है कि छोटा राजन को बैरक के अंदर ही टीवी, किताबें और बाकी सुविधाएं दी जा रही है, पर उन दोनों को नहीं मिल रही है। इस बाबत गुरुवार की सुबह नीरज बवाना से मिलकर लौटी उसकी माँ ने बताया कि तिहाड़ जेल में मेरा बेटा नीरज, शहाबुद्दीन और छोटा राजन तीनों 2 नंबर हॉई रिस्क वार्ड में बंद है। तीनों के बैरक अलग-अलग,काफी दूर है।उनके बेटे ने भूख हड़ताल के बाबत उनको बताया कि …

सिवान के पूर्व सांसद और राजद के बाहुबली बेहद चर्चित नेता मोहम्मद शहाबुद्दीन और दिल्ली का कुख्यात गैंगस्टर नीरज बवाना ने दिल्ली के तिहाड़ जेल में भूख हड़ताल शुरू कर दी है। इन दोनों सजायाफ्ता कैदियों की नाराजगी इस बात को लेकर है कि जेल में जो सुविधाएं अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को दी जा रही हैं, वे उन्हें नहीं दी जा रही हैं। इतना ही नहीं, पूर्व सांसद ने शहाबुद्दीन ने अपने वकील के माध्यम से इस बारे में हाईकोर्ट में एक याचिका भी दाखिल कर दी है।

छोटा राजन को टीवी और किताबें’

मोहम्मद शहाबुद्दीन ने तिहाड़ जेल प्रशासन पर उन्हें मिलने वाली सुविधाओं को लेकर आरोप लगाया है। आरोप में शहाबुद्दीन ने कहा है कि जेल के अंदर अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को टीवी, किताब और अन्य सुविधाएं दी जा रही हैं।लेकिन उसी वार्ड में मौजूद नीरज बवाना और उन्हें इन सुविधाओं से महरूम रखा गया है।वहीं शहाबुद्दीन के आरोप में नीरज बवाना ने भी साथ दिया है. नीरज ने भी कुछ दिनों पहले ही दिल्ली की एक अदालत को चिट्ठी लिखकर कैदियों को बेहतर भोजन और दवाई मुहैया न कराने की शिकायत की थी।

शहाबुद्दीन ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की

इस बारे में शहाबुद्दीन की ओर से बुधवार को दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका भी दाखिल की गई है. शहाबुद्दीन ने अपनी याचिका में कहा है कि उन्हें पिछले 13 महीने से तिहाड़ जेल के ऐसे एकांत कारावास में रखा गया है। जहां न रोशनी आती है और न ही हवा।

इसके साथ शहाबुद्दीन ने याचिका में ये भी कहा है कि जब से वो तिहाड़ जेल में शिफ्ट हुए हैं, तब से उनका वजन 15 किलो घट गया है। अगर हालात यही रहे तो उन्हें गंभीर बीमारियां हो सकती हैं। उन्होंने ये भी मांग की है कि उन्हें एकांत कारावास से निकालकर आम कैदियों की तरह रखा जाए। याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने तिहाड़ जेल के सुपरिटेंडेंट को नोटिस जारी कर दिया है. कोर्ट ने जेल प्रशासन से इस बारे में 27 अप्रैल तक जवाब दाखिल करने को कहा है।

 

 

Loading...