बड़ी खबर- सिवान के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के ससुर हाजी साहब का इंतकाल,परिजनों और समर्थकों का पुरानी किला स्थित घर पहुचना जारी

0
231

पटना Live डेस्क। बिहार की सियासत या यूं कहें कि मुल्क की राजनीति में शहाबुद्दीन एक ऐसा नाम है जिसे हर कोई जानता है। सैयद मोहम्मद शाहबुद्दीन का जन्म 10 मई 1967 को सीवान जिले के प्रतापपुर में हुआ था। उन्होंने अपनी शिक्षा दीक्षा बिहार से ही पूरी की थी। राजनीति में एमए और पीएचडी करने वाले शहाबुद्दीन ने हिना शहाब से शादी की थी। उनका एक बेटा और दो बेटी हैं।शहाबुद्दीन ने कॉलेज से ही अपराध और राजनीति की दुनिया में कदम रखा था। किसी फिल्मी किरदार से दिखने वाले मोहम्मद शहाबुद्दीन की कहानी भी फिल्मी सी लगती है।उन्होंने कुछ ही वर्षों में अपराध और सियासत में काफी नाम कमाया है। वर्तमान में पूर्व बाहुबली सांसद दिल्ली के तिहाड़ जेलमे अपनी सज़ा काट रहे है।यदि बीच सिवान सीक बड़ी खबर आ रही है। शहाबुद्दीन के ससुर हाजी साहब का इंतकाल हो गया है।

मिल रही जानकारी की अनुसार लगभग 92 साल के हाजी कमरुद्दीन खा साहब पिछले काफी वक्त से बीमार चल रहे थे। उनका की देख भाल परिजन सिवान स्थित पुरानी किला के घर पर पूरी शिद्दत से कर रहे थे।लेकिन गुरुवार को तकरीबन 4 बजे हाजी साहब अंतिम सांस ली और इस फानी दुनिया से अनंत की यात्रा पर रुख़सत हो गए। हाजी साहब के इंतकाल कज खबर मिलते ही सगे संबंधियों समेत साहेब के समर्थकों के बीच मातम का माहौल तारी हो गया है।वही पुरानी किला स्थित उनके घर पर लोगो का तांता लग गया। निधन की सूचना मिली तो पार्टी के कार्यकर्ताओं में शोक की लहर दौड़ गई।देखते ही देखते सैकड़ों की संख्या में राजद व विभिन्न दलों के नेता व कार्यकर्ता उनके निवास स्थान जिला मुख्यालय के पुरानी किला पहुंच गए। निधन की सूचना पर मृतक कमरुद्दीन खा की पुत्री सह राजद के वरिष्ठ नेत्री हिना शहाब को मिली तो अपने मृत पिता को देखने अपने मायके पहुंची और मृत पिता के शव को देख आंसू को नही रोक पाया।


वही मिली जानकारी के अनुसार हाजी साहब  का नमाज़ -ए- ज़नाज़ा जुमा की नमाज़ के बाद सिवान में पढ़ा जाएगा फिर उनको पूरे रीति रिवाज के साथ सुपुर्दे ख़ाक किया जाएगा।