बड़ा खुलासा – (वीडियो) पटना में शौक और पैसे के लिए गर्ल्स हॉस्टल की कई लड़कियां करती हैं धंधा

0
274

पटना Live डेस्क। राजधानी पटना में  गर्ल्स हॉस्टल की आड़ लेकर संचालित हो रहे सेक्स रैकेट का एसकेपुरी पुलिस ने भंडाफोड़ किया है। बोरिंग रोड में मौजूद आद्री गली के रंगोली अपार्टमेंट में पुलिस ने छापेमारी की है। इस अपार्टमेंट के थर्ड फ्लोर पर एक फ्लैट से चार लोग पकड़े गये हैं,जो अापत्तिजनक हालत में थे।इन में रैकेट संचालक समेत दो युवक व दो  युवतियां शामिल हैं।अपार्टमेंट के थर्ड फ्लोर पर सेक्स रैकेट चल रहा था और ग्राउंड फ्लोर पर एक गर्ल्स हॉस्टल भी है।गर्ल्स हॉस्टल होने के कारण यहां लड़कियों के आने-जाने पर किसी को शक नहीं हो रहा था।इसी हॉस्टल की आड़ लेकर इस फ्लैट में लड़कियों को लाया जाता था।सेक्स रैकेट संचालक चंदन दूसरे हॉस्टल से भी लड़कियों को बुलाता था। फिलहाल जो लड़कियां पकड़ी गयी हैं वह संतुष्टि गली में स्थित अंबा  गर्ल्स हॉस्टल में रहती हैं।
मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार की देर रात करीब 11 बजे एक कार अपार्टमेंट के नीचे आयी थी। रात के अंधेरे में दो लड़कियां कार से नीचे उतरीं। फिर दोनों लड़कियां थर्ड फ्लोर पर सीधे चंदन के फ्लैट में चली गईं।फ्लैट में पहले से चंदन के अलावा अनीसाबाद का दिव्य भारती नाम का युवक मौजूद था। रात भर लड़कियां दोनों युवकों के साथ थीं। अपार्टमेंट के लोग कई दिनाें से इन गतिविधियों को देख रहे थे। शनिवार की सुबह किसी ने मामले की  जानकारी एसके पुरी थाने को दी।इसके बाद पुलिस टीम ने महिला फोर्स के साथ रेड किया।फ्लैट के अंदर चंदन और दिव्य भारती दो लड़कियाें के साथ आपत्तिजनक स्थिति में मिले। इसके बाद सभी को पुलिस थाने ले जाया गया।   तीन महीने से जारी था धंधा                              चंदन ने बताया है कि वह तीन महीने से इस धंधे को चला रहा था। पटना के कई गर्ल्स हॉस्टल में रहने वाली कई लड़कियां उसके रैकेट में शामिल हैं, जो महंगे कपड़े, मोबाइल फोन,गाड़ी समेत अपने अन्य शौक को पूरा करने के लिए सेक्स रैकेट में शामिल हाेती हैं और रुपये कमाती हैं। पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर लिया है। इसमें चंदन, दिव्य भारती, हॉस्टल के मालिक और फ्लैट के मालिक को नामजद किया गया है। दोनों  युवकों को जेल भेज दिया गया है, जबकि लड़कियों को छोड़ दिया गया है।
इस मामले में हॉस्टल के मालिक से पूछताछ होगी। सवाल यह है कि देर रात को लड़कियां हॉस्टल के बाहर कैसे निकलीं? उन्हें हॉस्टल संचालक ने जाने कैसे दिया। हॉस्टल संचालक की भूमिका की पुलिस जांच करेगी?