दुःखद – “एक ऑलराउंडर का यूं हार जाना”तुमको को न भूल पायेंगे मित्र समरेंद्र

पटना Live डेस्क। कहते है मरने वाला ईश्वर की पनाह में चला जाता है। लेकिन छोड़ जाता है अपनी यादों का वो दस्तावेज जो उसके परिजनों नाते रिश्तेदारों और दोस्तो के दिलो में ताउम्र कचोटते हुए सहेजा रहता है। कुछ ऐसी यादों की मुकम्मल तस्वीरें छोड़ कर पटना के राजेन्द्र नगर के निकासी हर दिल अज़ीज़,दोस्तों के दोस्त और टेनिस बॉल क्रिकेट के बेहतरीन ऑलराउंडर समरेंद्र जमुआर इस दुनिया को अलविदा कह गए।
अपने दोस्त के असमय निधन से मर्माहत गप्पू जी ने बताया कि हम लोगो के बचपन साथी समरेंद्र हम लोग को छोड़कर चला गया। लेकिन हम सभी मित्री के बचे हुए शेष जीवन में समरेंद्र तुम हमेशा याद आओगे और सदैव दिल में रहोगे। तुम्हारे ऐसा अच्छा दोस्त हमें अब कभी न नहीं मिलेगा।तुम्हारी कमी सदैव खलेगी।
ग़मज़दा गप्पू जी अपने दोस्त के साथ बचपन से लेकर अबतक बिताये गए अविस्मरणीय पलो को याद कर भावुक लहजे में बताते है कि समरेंद्र अपने जमाने का मशहूर टेनिस बॉल क्रिकेटर रहा था। हम लोग के टीम का ओपनिंग बैट्समैन और बेहतरीन बॉलर यानी ऑलराउंडर था। कभी हार न मानने वाला पर समरेंद्र 18 दिनों से ICU में  जिंदगी और मौत से बीच लड़ाई लड़ते हुए गुरुवार और शुक्रवार की दरमियानी रात जिंदगीसे हार गया और चिरनिद्रा में सो गया। विपदा की इस घड़ी में रुंधे गले से गप्पू जी,रंजीत जी और उनके तमाम दोस्तो की मौजूदमी बस सभी के दिल मे एक ही सवाल है – भला ऐसे भी कोई जाता है ?