क्या आप भी हैं पीठ दर्द के शिकार ? जाने पीठ दर्द के सही उपचार….

126

पटना Live डेस्क। पटना लाइव की टीम ने पटना में क्लिनिक की तरफ रूख कर रहे लोगों का जायजा लिया और पाया कि उनमें से 70 प्रतिशत लोग पीठ दर्द की समस्या से परेशान है। एक्सपर्ट्स की माने तो पीठ में दर्द होना आजकल आम बात हो गयी है, 10 में से 8 लोगों पीठ दर्द के शिकार है । भला हों भी क्यों न ? क्योंकि देखा जाए तो मानव शरीर की संरचना में शरीर का पूरा भार पीठ पर रहता है और जितने अच्छे से पीठ की देख भाल करनी चाहिए, आज के समय में लोग कर नही पा रहें हैं। सही से बैठना, ज्‍यादा देर तक बैठे रहना, बिस्‍तर सही न होना, गलत तरीके से सो जाना, ये पीठ में दर्द होने के कुछ कारण है। साथ ही हड्डी में किसी प्रकार की दिक्‍कत होना या नस का खिंचना भी पीठ दर्द का कारण होता है। पीठ की मांसपेशियों में अगर तनाव हो तो भी पीठ में दर्द होना शुरू हो जाता है।

जैसा कि हमेशा कहा जाता है कि “प्रिवेंशन इज बेटर देन क्योर” तो एक्सपर्ट से एडवाइस लेकर हमने जाना कुछ सही फार्मूला जिसे फॉलो कर आप पीठ दर्द से बच सकते हैं। इन आदतों को अपनायें, और पीठ-दर्द की शिकायत को दूर भगायें।

1) खुद को स्वस्थ रखें, जिसके लिए व्‍यायाम एवं योगा करना आवश्यक है क्योंकि शरीर को चुस्‍त और दुरूस्‍त बनाये रखना आज के टाइम में बहुत जरुरी वरना पीठ दर्द ही क्या और भी कई बीमारियां आपको घेरती नजर आयेंगी। एक्सरसाइज से आप ऊर्जावान महसूस करते हैं और आपकी रीढ़ की हड्डी मजबूत बनी रहती है। फिर आपको पीठ दर्द की समस्या घेरेगी भी नही। कभी-कभी पीठ में दर्द की समस्‍या प्राय लेटे रहने के कारण से भी हो जाता है, इसलिए टहले या आउटडोर गेम्‍स खेल ले जिससे आपका मनोरंजन भी हो जायेगा और व्‍यायाम भी। ध्यान रखें कि बॉडी को टाइम टाइम पर मूवमेंट भी करवाते रहना बहुत जरुरी है ।

2)पीठ दर्द में विटामिन बी का सेवन फायदेमंद होता है। विटामिन बी, सेंट्रल नर्व सिस्‍टम को सर्पोट करने का काम करती है और पीठ को मजबूती प्रदान करती है। इससे बॉडी में इम्‍यूनिटी की भी बढ़ौतरी होती है। डेटा देखेंगे तो आप पायेंगे कि जो भी लोग विटामिन बी का सेवन नियमित रूप से करते है, उन लोगों को पीठ में दर्द होने की संभावना कम होती है।

3) अच्‍छी नींद और प्रॉपर रेस्ट, मांसपेशियों को मजबूत बनाये रखता है एवं उसे रिपेयर करता है। आप देखते होंगे कि जो भी लोग अच्छे से पूरी नींद लेकर सोते है उन्हें पीठ दर्द की शिकायत नहीं होती। आप भी नींद के साथ लापरवाही न बरतें। कोशिश करें की समय पर सोये और बॉडी को पूरा आराम दें। साथ ही ज्‍यादा कठोर या ज्‍यादा मुलायम बिस्तर पर न सोएं क्योंकि दोनों ही स्तिथि में शरीर के शेप पर असर पड़ता है और पीठ दर्द की शिकायत शुरू हो जाती है वो अलग समस्या। टेढे़ -मेढे़ होकर कतई न सोएं, याद रखें कि सही तरीके से सोना भी दर्द से निजात दिलाने का एक उपचार है।

 

4) सप्‍ताह में एक बार कम से कम पीठ में हॉट ऑयल से मसाज करवा करें। मसाज मांसपेशियां को मजबूत बनाने का बेहतरीन तरीका है और पीठ दर्द के रोगी को अगर पीठ में मसाज से काफी आराम मिलता है। अगर आपको पीठ पर कोई मसाज देने वाला नहीं है तो आप टेनिस की बॉल को बैक पर रखकर फिराएं। इससे भी आपको काफी आराम महसूस होगा।

5) धुम्रपान कतई न करें क्योंकि धूम्रपान से हड्डियां गलती है और पीठ में दर्द भी हड्डी में ही किसी तरह की दिक्‍कत आने के वजह से होता है। धुम्रपान करने वाली सामग्री में निकोटिन होता है जिससे भी पीठ में दर्द होने लगता है। देखा जाए तो धूम्रपान कई बीमारियों का कारण है जैसे हाइपरटेंशन, ब्‍लडप्रेशर, हार्टअटैक और कैंसर। अगर इनमे से कोई भी बिमारी आपको होती है तो भी आपको सीधे सीधे पीठ में दर्द शुरू हो जाने की समस्या हो जाती है क्‍योंकि मरीज ज्‍यादा से ज्‍यादा वक़्त बिस्‍तर पर गुजारता है।