Super Exclusive (वीडियो &ऑडियो) नून रोटी खाएंगे पति के संग ही जीवन बिताएंगे कहने वाली वत्सला सिंह का सच जान लीजिए,आखिर क्यो ? जमुई DM को बदनाम किया जा रहा है? एक तहकीकात

पटना Live डेस्क।बिहार के जमुई जिले के डीएम का अपनी पत्नी से विवाद अब चर्चा का विषय बन गया है। बुधवार 21 नवंबर, 2018 को सुबह करीब 10 बजे जमुई जिले के डीएम आवास के बाहर डीएम धर्मेंद्र कुमार की पत्नी वत्सला सिंह अपने रिश्तेदारों और परिजनों के साथ आ गईं।पत्नी वत्सला सिंह अपनी मां पुष्पा सिंह संग डीएम सहाब से उस वक्त मिलने पहुंची थी जब वो जमुई से बाहर थे। तब डीएम आवास के  गार्ड्स ने अंदर नहीं घुसने दिया तो इंकार से नाराज वत्सला सिंह ने गेट पर ही धरना शुरू कर दिया। इस दौरान वत्सला और आवास के कर्मियों के बीच काफी बहस भी हुई। कर्मचारी भी असमंजस में थे कि आखिर किया क्या जाए? अंत में वत्सला सिंह जबरन घर के भीतर चली गईं। डीएम की पत्नी उनके आवास के बाहर ही धरने पर बैठ गईं।
जमुई डीएम आवास के बाहर करीब 20 घंटे तक अपने पति से मिलने की जिद में धरने पर बैठी वत्सला सिंह लोगों के समझाने-बुझाने के बाद पटना लौट गईं। तब से लेकर अबतक वत्सला सिंह जमुई DM ओर तरह तरह के आरोप मीडिया के माध्यम से चस्पा कर रही है। उन्होंने मीडिया से कहा कि वत्सला ने बताया, “बिना कुछ बताए या चर्चा किए मेरे पति ने मार्च में पटना पारिवारिक अदालत (फैमिली कोर्ट) में हमारे तलाक की अर्जी डाल दी। मैंने उनसे बात करने की कोशिश की, लेकिन हर बार नाकाम रही।” इन तमाम विवाद के बाबत जब पटना Live ने जमुई के डीएम से फ़ोन पर बात की तो उन्होंने फोन पर बताया कि यह मामला अदालत में है और इस पर सुनवाई हो रही है। उन्होंने कहा कि वे केवल अदालत का फैसला मानेंगे।

                                     जब हमने उनसे लगातार पूछा कि वत्सला सिंह के चस्पा किये जा रहे है आरोपो के बाबत कुरेदा तो उन्होंने स्पष्ट किया कि – देखिए मैं सच अदालत के सामने प्रस्तुत कर चुका हूं। किसी का मान मर्दन करना मेरे संस्कारों में नही है।

कौन है धर्मेंद्र कुमार

मूल रूप से नालंदा के रहने वाले भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी धमेंद्र का विवाह 11 मार्च 2015 को पटना के बाढ की रहने वाली वत्सला सिंह के साथ हुआ था। धमेंद्र कुमार के ऊपर उनकी पत्नी ने पहले भी कई आरोप लगाए हैं और मामला महिला आयोग के पास भी जा चुका है। डीएम की पत्नी ने इसी साल जून में राष्ट्रीय महिला आयोग में शिकायत दर्ज करवाई थी। अपने आवेदन में उन्होंने कहा था कि पति उनके फॉन कॉल को रिकॉर्ड करते थे। इसके अलावा वत्सला सिंह ने ये भी कहा कि शादी के बाद उनके पति ने उनसे हनीमून पर चलने के लिए कहा था लेकिन उन्होंने अपने फैशन डिजाइनिंग कोर्स की परीक्षा की वजह से फिर कभी चलने की बात कही। इसी विवाद के बाद से वत्सला सिंह अपने पाटलिपुत्र कॉलोनी स्थित अपने मायके में ही रह रही हैं।

DM व परिजनों किया है दहेज उत्पीड़न का मामलाडीएम धर्मेंद्र कुमार और वत्सला सिंह का विवाद नया नहीं है। साल 2013 में बिहार के मशहूर उद्योगपति अनिल सिंह की बेटी वत्सला सिंह की शादी 2013 बैच के आईएएस धर्मेंद्र कुमार से हुई थी। धर्मेंद्र कुमार नालंदा जिले के हिल्सा के रहने वाले हैं। ये शादी पटना के पाटलिपुत्रा से हुई थी। इस शादी में बिहार की लगभग सारी रसूखदार हस्तियों ने शिरकत की थी। लेकिन शादी के बाद ही दोनों के बीच तनाव शुरू हो गया। तनाव फलक पर तब आया, जब वत्सला सिंह ने मानसिक प्रताड़ना और दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए पति धर्मेंद्र कुमार के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। ये मामला कांड संख्या 110/18 के नाम से 21 मार्च 2018 को पटना के पाटलिपुत्र थाने में दर्ज करवाया गया था। उस मामले में वत्सला ने धर्मेंद्र के पिता समेत बहन बहनोई को भी आरोपी बना दिया है।

वत्सला  के आरोपो DM के परिवार ने तोड़ी चुप्पी

जमुई के जिलाधिकारी धर्मेद्र सिंह पर पत्नी वत्सला सिंह द्वारा लगातार लगाए रहे प्रताड़ना के आरोप के बाद उनके परिवार ने चुप्पी तोड़ दी।धर्मेद्र के पिता भूषण सिंह ने ‘पटना Live’ से बात की और कहा- ढाई साल तक बेटे ने बहू को साथ रखने की पुरजोर कोशिश की, लेकिन उसने पति को छोड़कर फैशन को अपनाया। उसे दिल्ली का फैशन व कल्चर अच्छा लगता था। सारे प्रयास असफल रहने के बाद धर्मेद्र ने कोर्ट में तलाक की अर्जी दी। वत्सला भी यही चाहती है, लेकिन उसके मायके वाले मामले को दूसरा रूप दे रहे हैं। धर्मेद्र के चरित्र और ओहदे पर लांछन लगाया जा रहा है। यह मामला न्यायालय में विचाराधीन है। उनका बेटा एक जिम्मेदार पद पर है। न्यायालय का सम्मान करते हैं, इसलिए मीडिया में बयानबाजी नहीं करना चाहते। दूसरा पहलू यह भी है कि मामला पारिवारिक है। वह एक सामाजिक व्यक्ति हैं। अपने मुंह से घर की बातों को बाजार की चर्चा नहीं बनाना चाहते हैं।

वत्सला को गंवार लगते हैं सास-ससुर 

वत्सला सिंह के आरोप और हकीकत का सुनिए ऑडियो …पहला ऑडियो ..

धर्मेद्र के पिता ने कहा कि धोखे में रखकर बेमेल शादी कराई गई। इसके कारण आज पूरे परिवार को प्रताड़ित होना पड़ रहा है। बहू वत्सला सिंह को बिहारी दकियानूसी घटिया लगते हैं। सास-ससुर को वह गंवार समझती है। वो चाहती है कि धर्मेद्र माता-पिता को छोड़कर उसके साथ रहे और सास-ससुर को ही माता-पिता माने। पटना स्थित घर पर भी उसने कभी रहना नहीं चाहा। हमेशा मायके चली जाती थी। धर्मेद्र के पास पर्याप्त साक्ष्य हैं कि वत्सला खुद तलाक लेना चाहती थी। वह कहती थी कि माता-पिता की जिद के कारण शादी की। उन साक्ष्यों को संबंधित प्राधिकार के समक्ष प्रस्तुत किया जा चुका है। कई और साक्ष्य हैं, जो उचित स्थान पर प्रस्तुत किए जाएंगे।

एक और मुकदमा करने की साजिश 

धर्मेद्र ने जब कोर्ट में तलाक की अर्जी दायर की, तब सोची-समझी साजिश के तहत वत्सला ने पाटलिपुत्र थाने में प्रताड़ना की शिकायत दर्ज करा दी। जांच के बाद पटना पुलिस ने वत्सला के आरोपों को असत्य पाया। इस संबंध में छह माह पहले ही पुलिस ने रिपोर्ट सौंप दी है। वत्सला और उसके परिवार के लोग जमुई जिलाधिकारी के सरकारी आवास के बाहर बैठकर पारिवारिक मामले को गरम मसाला बना रहे हैं। माना जा सकता है कि वे नए केस में फंसाने की साजिश रच रहे हैं। पति और ससुराल वालों पर मुकदमे की साजिश करने वाली लड़की के साथ धर्मेद्र कैसे रह सकता है? यह समझने की बात है।

To be countined …. ऑडियो और भी है जो बेनकाब करेंगे हकीकत … कौन है पीड़ित कौन है सच्चा कौन झूठा … 

Loading...